×

Most Unusal Villages in India: भारत के इन गांवों में बहुत अनोखी परंपरा, यहां सभी लोग करोड़पति

Most Unusal Villages in India: भारत देश में करीबन लाखों गांव होंगे, जहां पर अपनी अलग-अलग मान्यताएं और विरासते हैं। ऐसे में यहां के कुछ गांव ऐसे भी हैं जो बाकियों से बहुत ज्यादा विचित्र और असामान्य है।

Vidushi Mishra
Published on: 23 Aug 2022 7:06 AM GMT
Most Unusual Villages in India
X

भारत के विचित्र और असामान्य गांव (फोटो- सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
Click the Play button to listen to article

Most Unusal Villages in India: भारत बहुत ही अद्धभुत देश है। यहां पर अनेकों संस्कृतियां है और अनेकों रीति-रिवाज हैं। भारत देश में करीबन लाखों गांव होंगे, जहां पर अपनी अलग-अलग मान्यताएं और विरासते हैं। ऐसे में यहां के कुछ गांव ऐसे भी हैं जो बाकियों से बहुत ज्यादा विचित्र और असामान्य है। यहां के लोगों के लिए वो चीजों बहुत नॉर्मल हो सकती है, लेकिन जो यहां का रहने वाला नहीं है उसके लिए वाकई में बहुत ही दिलचस्प हैं ये गांव। क्या आप इन गांवों में जाना चाहते हैं। आइए आपको भारत के कुछ सबसे ज्यादा अनोखें दिलचस्प गांवों के बारे में बताते हैं।

मत्तूर गांव, कर्नाटक
Mattur Village, Karnataka

कर्नाटक के शिवमोग्गा जिले में स्थित एक मत्तूर नाम का गांव है। इस गांव के अधिकांश निवासी अपने दैनिक जीवन में संस्कृत भाषा का उपयोग करते हैं। भले ही कर्नाटक की आधिकारिक भाषा कन्नड़ है, लेकिन इस गांव के निवासी संस्कृत के साथ सहज हैं।

यदि आप सोच रहे हैं कि इसमें क्या असामान्य है, तो संस्कृत एक प्राचीन भारतीय भाषा है जो अब सक्रिय रूप से बोली जाने वाली भाषा नहीं है। भारत के कुछ स्कूलों में एक विषय के रूप में संस्कृत है, लेकिन भारत में अब संस्कृत भाषा का उपयोग सिर्फ धार्मिक समारोहों तक ही सीमित रह गई है। ऐसे में मट्टूर गांव के निवासियों के लिए, यह उनके लिए सामान्य है।

शनि शिंगणापुर गांव, महाराष्ट्र
Shani Shingnapur Village, Maharashtra

Shani Shingnapur Village (PIC- SOCIAL MEDIA)

हमारे जीवन का कुछ प्रतिशत समय दरवाजे खोलने और बंद करने में चला जाता है और फिर हम इस बात पर जोर देते हैं कि क्या हमने उन्हें ठीक से बंद कर दिया है, क्या हम सुरक्षित हैं, वगैरह-वगैरह।

ऐसे में महाराष्ट्र के शनि शिगनापुर गाँव के निवासियों को इस बारे में चिंता करने की कोई ज़रूरत नहीं है। यह गांव बिना दरवाजे वाले गांव के रूप में लोकप्रिय है। निवासी हिंदू देवता शनि के सच्चे आस्तिक हैं। यहां के निवासियों का मानना ​​है कि जो कोई भी इस गांव में किसी अन्य व्यक्ति को नुकसान पहुंचाएगा, वह शनि देव का प्रकोप सहन करेगा।

लोंगवा गांव, नागालैंड
Longwa Village, Nagaland

लोंगवा गांव नागालैंड के मोन जिले में स्थित है। यह राज्य के सबसे बड़े गाँवों में से एक है। इस गांव के बारे में विचित्र बात ये है कि ये गांव भारत और म्यांमार के बीच भौगोलिक सीमा में स्थित है। यदि आप प्रधान के घर में हैं, तो आप एक ही समय में म्यांमार और भारत में हो सकते हैं। इस गांव के निवासियों के पास दोहरी नागरिकता है। जोकि वाकई में बहुत ही अद्भुत बात है।

बरवां कला गांव, बिहार
Barwaan Kala Village, Bihar

2017 में 50 लंबे वर्षों के बाद, बड़वां गांव में बारात समारोह था, यानी 50 साल बाद एक शादी। यह बिहार के कैमूर हिल्स के बड़वां गांव की असामान्य लेकिन सच्ची कहानी है। 2017 तक, बहुत ही अनावश्यक कारण से, गाँव में कोई शादियाँ नहीं हुईं थी। दरअसल सबसे लंबे समय तक इस गांव को बैचलर ऑफ विलेज के नाम से जाना जाता था।

इस गांव में इतने सारे अविवाहित पुरुषों के लिए बड़वां कला गांव का स्थान मुख्य कारण था। वो ये कि 2017 से पहले, बड़वां गांव तक पहुंचने का एकमात्र तरीका 10 किमी का ट्रेकिंग करके पहुंचा जा सकता था। इसने कई भावी दुल्हनों और उनके परिवारों को गांव तक पहुंचने में बाधा उत्पन्न करता था। लेकिन ग्रामीणों ने आखिरकार एक सड़क खोद दी, जिससे रिश्ते आने लगे और शादी संभव हो गई।

हिवारे बाजार गांव, महाराष्ट्र
Hiware Bazar Village, Maharashtra

क्या कभी आपने सुना है कि किसी भी एक गांव में रहने वाले सभी लोग गरीब नहीं है। जीं हां यह बात महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले के हिवारे बाजार गांव के निवासियों ने साबित कर दी है। इस गांव को करोड़पति गांव के नाम से जाना जाता है। इस गांव में 50 से अधिक निवासी हैं जो करोड़पति हैं। सतत विकास और समुदाय आधारित प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन ने इस गांव के कई निवासियों की मदद की है। यह भारत के आदर्श गांवों में से एक है।


Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story