Amazing Fact: इस गुफा में छिपे कई रहस्य, यहां मिलते हैं दुनिया खत्म होने के संकेत

इस गुफा में जाकर आप एक साथ केदारनाथ, बद्रीनाथ, अमरनाथ के दर्शन कर सकते है। इसके अलावा इस गुफा के अंदर 33 करोड देवी देवताओं की आकृति मौजूद है और साथ ही यहाँ शेषनाग का फन नजर आता है।

Published by suman Published: February 18, 2021 | 11:04 am
CAVE

सोशल मीडिया से फोटो

जयपुर: भारत रहस्यों की खान है। सृष्टि के उदय और अस्त के प्रमाण यहां मिलते है। अद्भुत स्थली है। यहां के उत्तराखंड, कुमाऊं मंडल के गंगोलीहाट कस्बे में स्थित पाताल भुवनेश्वर गुफा को भगवान शिव का निवास स्थल मानते है। मान्यता के अनुसार कभी भगवान शिव इसी गुफा में आकर तपस्या करते थे। वहीं लोगों का मानना है कि इस गुफा में दुनिया के खत्म होने का राज छुपा है।

 

रहस्य्मयी गुफा

देश में ऐसी बहुत सी गुफाएं हैं जो हमेशा से ही लोगों  की जिज्ञासा का केंद्र रहीं हैं, वैसे तो आज तक आपने कई गुफाओं बारे में सुना होगा, पर आज हम आपको एक ऐसी रहस्य्मयी गुफा के बारे में बताने जा रहे हैं जो उत्तराखंड, कुमाऊं मंडल के गंगोलीहाट कस्बे में मौजूद है। यहाँ के स्थानीय लोगो का मानना है की इस गुफा में दुनिया के खत्म होने का राज छुपा है। इसी गुफा से जुडी कुछ और दिलचस्प बातों के बारे में बताने जा रहे हैं।

पाताल भुवनेश्वर

इस गुफा का नाम पाताल भुवनेश्वर हैं, ऐसा माना जाता है की इस गुफा में शिवजी रहते हैं, और सारे भगवान इसी गुफा में आकर शिव जी की पूजा करते थे। जब आप गुफा के अंदर जायेंगे तो इसका कारण भी समझ में आ जाएगा।

CAVE

यह पढ़ें…संगीतकार जहूर खय्याम का जन्मदिन आज, उमराव जान में दिया था दिलकश संगीत

इस गुफा में अंदर जाने का रास्ता बहुत पतला और संकरा है कि इसके अंदर प्रवेश करने में बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। जैसे ही इस गुफा के अंदर प्रवेश यकरेगें तो आपको दीवारों पर एक हंस का चित्र दिखेगा। ऐसा माना जाता है की ये ब्रह्मा जी का हंस है। इस गुफा में जाकर आप एक साथ केदारनाथ, बद्रीनाथ, अमरनाथ के दर्शन कर सकते है। इसके अलावा इस गुफा के अंदर 33 करोड़ देवी देवताओं की आकृति मौजूद है और साथ ही यहाँ शेषनाग का फन नजर आता है।

चारों युगों का प्रतीक

यहाँ चार खम्भे बने हुए है जो चारो युगों का प्रतीक माने जाते हैं। इस गुफा को देखने के लिए बहुत सारे टूरिस्ट आते है, जब आप इस गुफा के अंदर जायेंगे तो आपको ठंडे पानी के बीच में से होकर गुजरना पड़ेगा। आप इस गुफा को कुदरत के द्वारा बनाया गया एक करिश्मा मान सकते हैं।

CAVE

यह पढ़ें…उन्नाव में बेटियों की मौत, नहीं बचेंगे हत्यारे, पुलिस की 6 टीमें ताबड़तोड़ एक्शन में

पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र

लोगों का मानना है की यह ब्रह्मा जी का हंस है। इस गुफा में बने खंभ चार युगों सतयुग, त्रेतायुग, द्वापरयुग तथा कलियुग को दर्शाते है। कलयुग खंभ की लंबाई बाकी तीन से लंबी है और इसके ऊपर छत से एक पिंड नीचे लटक रहा है, जिसमें एक गहरा रहस्य छुपा है। अपनी अनोखी बनावट के कारण ये गुफा पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बन गई है और यहां पर्यटकों का तांता लगा रहता है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App