Top

‘टाटा नैनो’ की चला-चली की बेला, लगे हाथ जानिए 10 खास बातें

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 6 July 2018 2:58 PM GMT

‘टाटा नैनो’ की चला-चली की बेला, लगे हाथ जानिए 10 खास बातें
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई : ऐसा कहा जा रहा है कि टाटा मोटर्स अपनी आम आदमी वाली कार नैनो को जल्द ही बंद करने वाली है। तो ऐसे में हम इस चला चली की बेला में आपको बताते हैं 10 खास बातें।

ये भी देखें :इन 10 बॉलीवुड हसीनाओं ने शादी के बाद छोड़ दी एक्टिंग, यहां देखें पूरी लिस्ट

ये भी देखें : ये 5 इंडियन Monuments आपसे कमाते हैं करोड़ों, जानें यहां

  1. रतन टाटा ने बारिश में एक परिवार को भीगते देखा और उन्हें नैनो का आइडिया मिला।
  2. वर्ष 2009 में नैनो लॉन्च हुई, उस समय ये दुनिया कि सबसे सस्ती कार के तौर पर जानी जाती थी।
  3. नैनो का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रेकॉर्ड्स में दर्ज है।
  4. पहले दौर की नैनो में पावर स्टीयरिंग नहीं थी।
  5. नैनो में कंपनी ने काफी स्पेस दिया जो इसे बाकियों से अलग खड़ा करता है।
  6. नैनो में फ्यूल पॉइंट आगे बोनट के अंदर है।
  7. नैनो में सिंगल वाइपर है।
  8. इसका ग्राउंड क्लियरेंस 180 एमएम है जो कि किसी छोटी कार में अमूमन देखने को नहीं मिलता।
  9. नैनो में प्लास्टिक और अडिहसिव का काफी इस्तेमाल होता है।
  10. टाटा मोटर्स ने नैनो के लिए करीब 34 पेटेंट्स अप्लाइ किये था।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story