Top

17 टूर्नामेंट में 17 गोल्ड मेडल जीत मनवाया अपना लोहा, ऐसी धाकड़ है ये 11 साल की गोल्डन गर्ल

बेटियां किसी से कम नहीं हैं। गोरखपुर की गोल्डन गर्ल ने इसे साबित कर दिखाया है। अपने हुनर की बदौलत 11 साल की उम्र में गोरखपुर की बेटी ने 17 टूर्नामेंट में 17 गोल्ड मेडल जीतकर अपना परचम लहराया है।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 25 Dec 2016 11:24 AM GMT

17 टूर्नामेंट में 17 गोल्ड मेडल जीत मनवाया अपना लोहा, ऐसी धाकड़ है ये 11 साल की गोल्डन गर्ल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोरखपुर : बेटियां किसी से कम नहीं हैं। गोरखपुर की गोल्डन गर्ल ने इसे साबित कर दिखाया है। अपने हुनर की बदौलत 11 साल की उम्र में गोरखपुर की बेटी ने 17 टूर्नामेंट में 17 गोल्ड मेडल जीतकर अपना परचम लहराया है।

कराटे और रेसलिंग में अपना लोहा मनवा चुकी हैं महिमा

-गोरखपुर के दीवान बाजार कॉलोनी में रहने वाली महिमा सिंह के पिता का नाम विश्व बंधू सिंह और माता का नाम डॉ. राधा सिंह है।

-सेंट पॉल स्कूल में पढ़ने वाली कक्षा 6 की छात्रा महिमा को दो साल पहले रेसलिंग और कराटे का शौक जगा।

-महज 11 साल की उम्र में ही महिमा कराटे और रेसलिंग में अपना लोहा मनवा चुकी हैं।

-इसके साथ ही उसके हैरतअंगेज कारनामों की वजह से माता-पिता का भी सिर गर्व से ऊंचा हुआ है।

यह भी पढ़ें ... U’khand स्टेट शूटिंग चैंपियनशिप: KARISHMA का करिश्मा, GOLD पर साधा अचूक निशाना

अपने गुरू को भी किया आश्चर्यचकित

-महिमा ने विजय कसेरा की इस्टर्न युद्ध अकादमी में ट्रेनिंग ली।

-कम समय में ही महिमा ने इतना कुछ सीखकर अपने गुरु को भी आश्चर्यचकित कर दिया।

-जिससे महिमा के गुरु को लगा कि अब उसे टूर्नामेंट में उतरना चाहिए।

-अपने गुरु के विश्वास पर खरा उतरते हुए महिमा ने लगातार 17 टूर्नामेंट में 17 गोल्ड जीते।

साल 2014-15

गेपलिंग के साऊथ एशिया गेम में 1 गोल्ड, कराटे जनपदीय में 3 गोल्ड. स्टेट लेवल पर 3 गोल्ड, कुडो गेम में 3 गोल्ड, नेशनल गेम में 1 गोल्ड

साल 2015-16

अक्षय कुमार इंटर नेशनल टूर्नामेंट कुडो में 1 गोल्ड, 2 गोल्ड जनपदीय कराटे, कराटे नेशनल में 3 गोल्ड

क्या कहती हैं महिमा ?

-महिमा कहती हैं कि मेरे माता-पिता के साथ साथ अब मुझे सभी लोग गोल्डन गर्ल के नाम से जानते हैं।

-मुझे ओलंपिक कराटे का चैंपियन बनना है और मुझे विश्वास है कि मैं जरुर बनूंगी।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story