Top

275 करोड़ से बनी इस 18 मंजिला इमारत में हुआ भीषण ब्लास्ट, दहल गया पूरा शहर

केरल के मरदू में बनी 18 मंजिला इमारत को प्रशासन ने शनिवार को ढहा दिया। इस गगनचुंबी इमारत को प्रशसन ने कंट्रोल्ड ब्लास्ट से गिराया और इमारत को धराशायी किए जाने का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 11 Jan 2020 9:30 AM GMT

275 करोड़ से बनी इस 18 मंजिला इमारत में हुआ भीषण ब्लास्ट, दहल गया पूरा शहर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मरदू: केरल के मरदू में बनी 18 मंजिला इमारत को प्रशासन ने शनिवार को ढहा दिया। इस गगनचुंबी इमारत को प्रशसन ने 7 मिनट में कंट्रोल्ड ब्लास्ट से गिराया और इमारत को धराशायी किए जाने का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है।

अवैध तरीके बनाई गई इस इमारत को गिराने का आदेश सुप्रीम कोर्ट ने दिया था जिसके बाद इसे आज ध्वस्त कर दिया गया। बताया जा रहा है कि इस इमारत को बनाने में 275 करोड़ की लागत आई थी।

आसमान चूमती इस इमारत में जैसे ही धमाके शुरू हुए तो यह ताश के पत्तों की तरह बिखरकर मलबे में बदल गई। इसके अलावा यहा मौजूद और भी इमारतों को गिराया जाना है और यह काम अब 12 जनवरी यानी रविवार को किया जाएगा। इसके लिए यहां हर तरफ धारा 144 लागू कर दी गई है।



इमारत में बारूद लगाने का काम पहले ही पूरा किया जा चुका था और धमाके से पहले आसपास की इमारतों में रहने वालों को कहा जा चुका था कि वो अपने घरों के खिड़की दरवाजे बंद कर लें। यहां बने जिन चार अपार्टमेंट्स को गिराने के आदेश जारी किए गए थे उनमें 350 से ज्यादा परिवार रहते थे और कोर्ट के आदेश में हर परिवार को 25 लाख रुपए देने के आदेश दिए गए थे। जो इमारत आज गिराई गई है वो 18 मंजिला थी और इसमें 90 फ्लैट्स थे।

ये भी पढ़ें...अवैध निर्माण सिर्फ कागजों पर रुका

ये भी पढ़ें...ग्रेटर नोएडाः शाहबेरी में अवैध निर्माण को लेकर बड़ी कार्रवाई, 74 फ्लैट कुर्क

यह है मामला

दरअसल, अवैध निर्माणों के खिलाफ केरल सरकार की यह सबसे बड़ी कार्रवाई मानी जा रही है। सुप्रीम कोर्ट ने 4 महीने पहले इन इमारतों को गिराने का आदेश दिया था। कोर्ट ने 23 सितंबर 2019 को तटीय इलाकों में बहुमंजिला इमारतें बनाने पर फटकार लगाई थी। इसके बाद 25 अक्टूबर को इमारतें ढहाने के आदेश के खिलाफ याचिका भी लगी थी लेकिन खारिज हो गई थी।

ये भी पढ़ें...कोर्ट का सवाल : पार्क में हुए अवैध निर्माण को गिराने के लिए क्या किया

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story