Top

ओह तेरी ! दादी को खाने में रेत पसंद है, एक किलो की है खुराक

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 22 Dec 2016 8:05 PM GMT

ओह तेरी ! दादी को खाने में रेत पसंद है, एक किलो की है खुराक
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

वाराणसी : क्या कोई इंसान रेत खा कर जिंदा रह सकता है? आपका जवाब होगा नहीं। कोई बात नहीं हम आपको बता देते हैं, जी हाँ! वो जिंदा रह सकता है। एक 78 साल की दादी अम्मा पिछले 63 सालों से हर दिन एक किलो रेत खाती आ रही है। सिर्फ इतना ही नहीं जिस दिन उन्हें रेत नहीं मिलती है उस दिन वो बीमार हो जाती है।

कुस्मावती कहती हैं कि जब वो 15 साल की थी तब उनका पेट फूलने लगा था, जिस पर वैद्य जी कहा कि दूध और 2 चम्मच रेत खाओ। तब से लेकर आजतक यह आदत बनी हुई है।

उन्होंने बताया जिस दिन रेत नहीं मिलती पेट में दर्द होता है और नींद नहीं आती। कुस्मावती का दावा है कि वो रोज एक किलो रेत खा लेती है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story