Top

फूलों के रंग में भीगे भक्त, बरबस गा उठे- आज बिरज में होरी रे रसिया, नैनन में मोय गारी दे गयौ

ब्रज पर कुछ ऐसा चढा़ होली का रंग, कि लोग गा उठे ‘आज बिरज में होरी रे रसिया’। सब होली के रंग में ऐसे रंगे की तन-मन झंकृत हो उठा। इस दौरान उड़े अबीर गुलाल से रमरेती के बदरा सतरंगी हो गए। महावन स्थित गुरु शरणानंद महाराज के आश्रम में मस्ती छा गई।

zafar

zafarBy zafar

Published on 2 March 2017 2:54 PM GMT

फूलों के रंग में भीगे भक्त, बरबस गा उठे- आज बिरज में होरी रे रसिया, नैनन में मोय गारी दे गयौ
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

मथुरा: कृष्ण की नगरी मथुरा में होली का रंग चढ़ता जा रहा है। गुरुवार को गोकुल में रमण रेती मंदिर में रंग-गुलाल और फूलों की होली खेली गई। इसमें देश विदेश के सैकड़ों लोग शामिल हुए। रमणरेती आश्रम में उड़े अबीर-गुलाल और टेसू के रंगों की बौछार के साथ फूलों की बरसात हुई तो होली के रंग और चटख़ हो गए।

छायी मस्ती

ब्रज पर कुछ ऐसा चढा़ होली का रंग, कि लोग गा उठे ‘आज बिरज में होरी रे रसिया’।

सब होली के रंग में ऐसे रंगे की तन-मन झंकृत हो उठा।

इस दौरान उड़े अबीर गुलाल से रमरेती के बदरा सतरंगी हो गए।

महावन स्थित गुरु शरणानंद महाराज के आश्रम में मस्ती छा गई।

फूलों की बारिश

रासाचार्य के सानिध्य में होली लीला में जब श्रीकृष्ण-राधा के स्वरूपों ने महाराज से होली खेली तो देश-दुनिया से आए भक्त रस में भीग गये।

इसी बीच गुरु शरणानंद महाराज ने शंख बजाया और पिचकारी से टेसू के रंग की बौछार की तो सब उसमें रंग गए।

मशीनों से हुई फूलों की वर्षा में श्रद्धालु घंटों मस्ती में झूमते-गाते रहे।

राधारानी का प्रिय मयूर नृत्य भी हुआ और ब्रज का प्रमुख चरकुला नृत्य भी।

बच्चे, युवा और बुजुर्ग सभी पर होली का रंग चढ़ चुका था, जिसका समापन महाराज ने स्वरूपों की आरती करके किया।

आगे स्लाइड्स में देखिये ब्रज की होली के रंगारंग फोटोज...

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों की बारिश में भीगे भक्त, बरबस गा उठे- आज बिरज में होरी रे रसिया, नैनन में मोय गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

फूलों के रंग और खुशबू के साथ छायी मस्ती, गा उठे सब, आज बिरज में होरी रे रसिया-नैनन में मोये गारी दे गयौ

zafar

zafar

Next Story