Top

गणेशोत्सव में देखिए सिक्कों से अनोखी गणेश प्रतिमा, जानें कितने सिक्के लगे इस मूर्ति में?

By

Published on 6 Sep 2016 4:43 AM GMT

गणेशोत्सव में देखिए सिक्कों से अनोखी गणेश प्रतिमा, जानें कितने सिक्के लगे इस मूर्ति में?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोरखपुर: कोर्ट के आदेश के बाद सरकार और जिला प्रशासन ने पर्यावरण प्रदूषण को ध्‍यान में रखकर कलाकारों द्वारा बनाई जाने वाली मूर्तियों में प्रयोग होने वाले हानिकारक रंगों के प्रयोग पर रोक लगा दी है। यही वजह है कि पिछले दो-तीन साल से विभिन्‍न त्‍योहारों पर मूर्तियां स्‍थापित करने वाले कलाकार और भी ईको फ्रैंडली मूर्तियां बनवा रहे हैं। गणेश उत्‍सव पर शहर में स्थापित हो रही ऐसी ही ईको फैंडली गणेश प्रतिमा लोगों का ध्‍यान आकर्षित कर रही हैं।

आगे की स्लाइड में देखिए इस मूर्ति में किन-किन सिक्कों का प्रयोग किया गया है

गोरखपुर के साहबगंज स्थित किराना मंडी में व्‍यापारियों द्वारा पिछले तीन वर्षों से ईको फ्रैंडली गणेश प्रतिमा स्‍थापित की जा रही हैं। यह प्रतिमा पूरी तरह से सिक्‍कों से बनी है। हालांकि व्‍यापारी पिछले नौ वर्षों से भगवान गणेश की प्रतिमा स्‍थापित कर रहे हैं। लेकिन कोर्ट के आदेश के बाद से लोगों में प्रदूषण को लेकर भी जागरूकता आई है। यहां के व्‍यापारी अब ईको फ्रैंडली गणेश प्रतिमा स्थापित की हैं। इस प्रतिमा को तैयार करने में 5, 10 और एक रूपए के सिक्‍के का प्रयोग किया गया है।

ganpati bappa

आगे की स्लाइड में देखिए कितने सिक्के लगे हैं इस मूर्ति में

कोलकाता से आए मूर्तिकार वासुदेव पाल ने बताया कि वह इसके पहले कोलकाता में इस तरह की मूर्तियां तैयार कर चुके हैं। उन्‍होंने बताया कि एक रूपए के आठ बोरी यानी 22 हजार 500 सिक्‍के, 10 के चार सौ और 5 के साढ़े चार सौ सिक्‍के यानी कुल 30 हजार 500 रुपए के सिक्‍के लग चुके हैं।

आगे की स्लाइड में जानिए कितने समय में तैयार की गई मूर्ति

वासुदेव ने बताया कि इस मूर्ति की अनुमानित लागत‍ लगभग 75 हजार रुपए और ऊंचाई 10 फीट के करीब है। उन्‍होंने बताया कि पिछले चार दिनों से प्रतिमा पर सिक्‍के लगाने का काम किया गया है। जिसमें छह कारीगर दिन-रात लगे हुए हैं, इस मूर्ति का ढांचा चार कारीगरों ने 20 दिन में तैयार किया था। उसके बाद इसके ऊपर मिट्टी की परत चढ़ाई गई। फिनिशिंग देने के बाद से सिक्‍के लगाने का काम किया जा रहा है। देर रात तक मूर्ति बनकर तैयार की गई और इसमें प्राकृतिक रंगों का भी प्रयोग किया गया। उसके बाद उसे स्‍थापित कर दिया गया।

ganpati bappa

आगे की स्लाइड में देखिए गणेश जी की खूबसूरत मूर्ति

इसी तरह गोरखपुर के घसिकटरा में महाराष्ट्र से आई मूर्ति लोगों का ध्यान आकर्षित कर रही हैं। इस मूर्ति की खासियत यह है कि इस मूर्ति मे प्राकृतिक रंगों का उपयोग किया गया है। इस प्रतिमा में जो हार बने हैं, उसमें डायमंड नग जड़े हुए हैं।

eco ganpati

आगे की स्लाइड में देखिए कैसी है गोरखपुर में गणेश उत्‍सव की धूम

गोरखपुर मे विभिन्न स्थानों पर गणेश प्रतिमा का स्थापना किया गया। श्रद्धालुओं में जहां गणेश उत्‍सव का उत्‍साह देखने को मिल रहा है। तो वहीं, पर्यावरण को सुरक्षित और संरक्षित रखने के लिए लोगों के अंदर जागरूकता भी दिखाई दे रही है।

ganpati puja

आगे की स्लाइड में देखिए गणपति उत्सव से जुड़ी तस्वीरें

ganpati bappa

Next Story