अच्छा तो ये कारण है गाय- भैस के दूध के रंग में अंतर का, जानकर हो जाएंगे हैरान

जयपुर: शरीर को लगभग तीस से अधिक तत्वों की आवश्यकता होती है। कोई भी अकेला पेय या ठोस भोज्य पदार्थ प्रकृति में उपलब्ध नहीं है जिससे इन सबको प्राप्त किया जा सके। परन्तु दूध से लगभग सभी पोषक तत्व प्राप्त हो जाते हैं। इसलिए बच्चों के लिए सन्तुलित व पूर्ण भोजन का स्तर दिया गया है।

दूध में मौजूद संघटक हैं पानी, ठोस पदार्थ, वसा, लैक्टोज, प्रोटीन, खनिज वसाविहिन ठोस। अगर हम दूध में मौजूद पानी की बात करें तो सबसे ज्यादा पानी गधी के दूध में 91.5% होता है, घोड़ी में 90.1%, मनुष्य में 87.4%, गाय में 87.2%, ऊंटनी में 86.5%, बकरी में 86.9% होता है। ज्यादातर लोग दूध का इस्तेमाल करते हैं।

दूध में कैल्शियम पर्याप्त मात्रा में होता ही है, साथ में विटामिन डी की भी मात्रा होती है जो हड्डियों को मजबूती देती है। साथ ही दूध में प्रोटीन भी पाया जाता है। लेकिन कभी आपने सोचा है कि आखिर गाय के दूध का रंग हल्का पीला और भैंस का सफेद क्यों होता है।

जब: ये बैंक हैं अनोखा, यहां नहीं होते पैसे की लेन-देन,जानिए इसका काम

– गाय के दूध में हल्का पीलापन होता है गाय के दूध सर्वोत्तम आहार है। मनुष्य की शक्ति एवं बल को बढ़ाने वाला गाय का दूध सबसे श्रेष्ठ माना जाता है। दूध में कैल्शियम के साथ-साथ प्रोटीन भी पाया जाता है और प्रोटीन सफेद रंग का होता है। गाय के दूध में कैरोटीन नाम का प्रोटीन होता है इसलिये गाय के दूध में हल्का पीलापन होता है।

– भैंस का दूध होता है ज्यादा सफेद पशु चिकित्सक बताते है कि भैंस का दूध गाढ़ा और मलाईदार होता है जिसकी वजह से दूध से दही, घी, पनीर, और मावा बनाया जा सकता है। भैंस के दूध में भी प्रोटीन पाया जाता है और भैंस में कैसीन नामक प्रोटीन होता है जिसकी वजह से भैंस के दूध का रंग ज्यादा सफेद होता है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App