×

अब मजा लीजिए, 5.17 किमी लंबे दिल्ली मेट्रो की हेरिटेज लाइन का

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 28 May 2017 3:07 PM GMT

अब मजा लीजिए, 5.17 किमी लंबे दिल्ली मेट्रो की हेरिटेज लाइन का
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली : केंद्रीय शहरी विकास मंत्री एम. वेंकैया नायडू व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को दिल्ली मेट्रो की बहुप्रतीक्षित हेरिटेज लाइन का उद्घाटन किया। इसे मेट्रो भवन से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए झंडी दिखाई गई। यह वायलेट लाइन (आईटीओ-एस्कार्ट मुजेसर) का विस्तार है। इस 5.17 किमी लंबे हेरिटेज गलियारे में चार स्टेशन हैं। इनमें दिल्ली गेट, जमा मस्जिद, लाल किला और कश्मीरी गेट शामिल हैं।

ये भी देखें : कांग्रेस : मोदी अपनी गलतियों को स्वीकार नहीं कर रहे, सरकार असफल

केजरीवाल ने कहा, "मैं दिल्ली के लोगों को बधाई देना चाहता हूं कि उन्हें हेरिटेज लाइन मिल रही जो इन ऐतिहासिक इमारतों के पास से होकर गुजरती है। यह दिल्ली के लोगों के लिए खुशी का दिन है।"

उन्होंने बाधाओं के बावजूद भी काम पूरा करने के लिए दिल्ली मेट्रो के अधिकारियों की तारीफ की। केजरीवाल ने कहा, "जिन इलाकों से यह हेरिटेज ट्रैक गुजरता है, वे बहुत घने हैं और कई ऐतिहासिक स्थल इस मार्ग पर स्थित हैं। दिल्ली मेट्रो के इंजीनियरों और दूसरे कर्मचारियों ने एक बड़ा काम किया है।"

इस मौके पर केंद्रीय विज्ञान मंत्री हर्षवर्घन भी मौजूद थे। दिल्ली मेट्रो अधिकारियों के मुताबिक, इस लाइन को उद्घाटन के दो घंटे बाद जनता के लिए खोल दिया गया।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story