अगर आप भी है एक्वेरियम के शौकीन तो उससे पहले जरूर जान लें उससे जुड़ी ये बात

Published by suman Published: April 28, 2017 | 3:31 pm

लखनऊ:  लोगों को घरों में भी पेट्स बर्ड्स,फिश रखने की आदत होती है। इनसे कुछ लोग घरों की खूबसूरती को बढ़ाते हैं। बहुत-से लोगों को अपने घर में फिश एक्वेरियम रखने का शौक होता है।  इससे घर की खूबसूरती और भी बढ़ जाती है। घर में एक्वेरियम रखने से मन को शांति और सुकून मिलता है। ज्यादातर लोग इसे कमरे, लॉबी या डाइनिंग हॉल में रखते हैं।वैसे  तो एक्वेरियम रखना बड़ी बात नहीं है। इसकी साफ-सफाई रखना बड़ी बात  होती है। एक्वेरियम को साफ करने के लिए कुछ सावधानी बरतनी पड़ती है ताकि एक्वेरियम टूट ना जाए। जानते हैं इसे साफ करने के तरीका।

आगे..

घर में सही जगह का करें चुनाव
फिश एक्वेरियम को अपने घर में ऐसे स्थान पर रखें, जहाँ उस पर कम से कम धूल लगे। धूल के संपर्क में आने से वो जल्दी गंदा होता है। इससे आपको उसकी सफाई करने में कोई दिक्कत नहीं होगी।

फिश एक्वेरियम की क्षमता के हिसाब से उसमें मछलियां रखें। कई बार हम अपने शौक के चक्कर में हम टैंक की क्षमता से अधिक मछलियाँ रख लेते हैं, जो कि गलत है। अमूमन एक मछली को 3.8 लीटर पानी की आवश्यकता होती है।

आगे..

ऐसे करें रख-रखाव
निश्चित अंतराल पर फिश एक्वेरियम का पानी बदलें।एक्वेरियम में रखे पौधों को साफ करने के लिए बाजार में मिलने वाले स्क्रबर का उपयोग करें।
ग्लास क्लीनर से एक्वेरियम का ग्लास साफ करें। मुरझाए व मरे हुए पौधों को एक्वेरियम से हटा दें।
एक्वेरियम को साफ करने में कम से कम 1-2 घंटे लग जाते हैं। इसलिए आराम से इसके लिए समय निकालें।
सफाई शुरू करने से पहले एक्वेरियम का फिल्टर सिस्टम, लाइटिंग और हीटर को बंद कर दें, ताकि साफ करते वक्त करंट न लगे।

आगे..

एक्वेरियम में लगे आर्टिफिशल पौधों को बाहर निकालें और साफ करें।  इसके बाद बाल्टी में आधा पानी निकाल लें, लेकिन ध्यान रखें कहीं मछलियों को कोई नुकसान न हो
धीरे-धीरे सारी मछलियों को नेट की मदद से बाहर निकालें और बाल्टी में रख दें।साफ पानी से एक्वेरियम को धोएं और कपड़े से अच्छे से सूखा लें।
एक्वेरियम से सारा पानी निकालने के बाद इसकी अच्छे से सफाई करें। पानी की वजह से एक्वेरियम में काई जम जाती है इसलिए स्पंज की मदद से दीवारों को साफ करें।
इसके बाद सारी चीजें अपनी जगह पर टिका दें और एक्वेरियम में साफ पानी भरें और मछलियों को बड़ी सावधानी से उसमें डालें।