Top

दिखा यूएफओः अमेरिकी अधिकारी का बड़ा खुलासा, रडार को चकमा देने का दावा

रैटक्लिफ ने बताया, “अमेरिकी नौसेना ने 20 अप्रैल 2020 में तीन वीडियो जारी किए थे।"

Chitra Singh

Chitra SinghBy Chitra Singh

Published on 25 March 2021 1:07 PM GMT

दिखा यूएफओः अमेरिकी अधिकारी का बड़ा खुलासा, रडार को चकमा देने का दावा
X

दिखा यूएफओः अमेरिकी अधिकारी का बड़ा खुलासा, रडार को चकमा देने का दावा (Photo- social media)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: पृथ्वी पर क्या वाकई एलियन (alien) रहते है? इसका खुलासा अमेरिका के पूर्व नेशनल इंटेलिजेंस (National intelligence) के डायरेक्टर ने किया गया है। उनका कहा है कि कि अमेरिकी सेनाओं ने कई बार एलियन शिप्स (Alien ships) को देखा है।

नेशनल इंटेलिजेंस के डायरेक्टर ने किया खुलासा

दरअसल, पूर्व नेशनल इंटेलिजेंस (National intelligence) के डायरेक्टर जॉन रैटक्लिफ (John Ratcliffe) ने एक अंग्रेजी मीडिया चैनल पर इंटरव्यू के दौरान एक एलियन शिप्स (Alien ships) का खुलासा किया था। उन्होंने कहा, "UFO देखने के कई मामले सामने आए हैं। एक बार तो एलियन शिप ने बिना सोनिक बूम पैदा किए ही साउंड बैरियर तोड़ दिया था। रडार में भी पकड़ में नहीं आया। जॉन रैटक्लिफ ने हैरानी जताई कि आखिर वह इतनी तेजी से उड़ कैसे सकता है बिना सोनिक बूम पैदा किए हुए। हमारे पास तो ऐसी टेक्नोलॉजी है ही नहीं।"

सेना को दिखा एलियन शिप्स

जॉन रैटक्लिफ (John Ratcliffe) ने आगे बताया, "अमेरिकी वायुसेना और नौसेना ने कई बार एलियन शिप्स को देखा है। एक बार तो एलिय़न शिप ने ध्वनि की गति से ज्यादा स्पीड कर ली थी, वह भी बिना सोनिक बूम के। जिसे देखकर वायुसेना के पायलट घबरा गए थे। अमेरिकी नौसेना ऐसे कुछ वीडियो जारी भी किए हैं, जिनमें एलियन शिप्स दिखाई दे रहे हैं।"




— SPACE.com (@SPACEdotcom) March 24, 2021 "> Also Read:


अमेरिकी नौसेना ने जारी किया वीडियो

रैटक्लिफ ने बताया, "अमेरिकी नौसेना ने 20 अप्रैल 2020 में तीन वीडियो जारी किए थे। सीनेट में रखे गए एक इंटेलिजेंस रिपोर्ट के मुताबिक पेंटागन अब भी UFO या UAP की खोज में लगा है, लेकिन मिलिट्री को चिंता इस बात की है कहीं ये UFO या एलियन शिप न होकर कोई सीक्रेट एयरक्राफ्ट या हथियार न हो। जिसे किसी अन्य देश ने निगरानी के लिए भेजा हो या फिर ऐसा हो सकता है कि कोई एक्स्ट्राटेरेस्ट्रियल (ET) न हो।"

Chitra Singh

Chitra Singh

Next Story