Top

4 साल के बच्चे ने ऐसे बचाई मां की जान, पढ़कर आप भी हो जाएंगे हैरान

shalini

shaliniBy shalini

Published on 28 Jun 2016 9:46 AM GMT

4 साल के बच्चे ने ऐसे बचाई मां की जान, पढ़कर आप भी हो जाएंगे हैरान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

[nextpage title="next" ]

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो

इटली: मां तो बस मां होती है अक्सर हम सुनते हैं कि मां अपने बच्चे के प्यार में कुछ भी कर गुजरने को तैयार रहती है। पर बच्चे भी मां से ज्यादा प्यार शायद ही किसी और से करते हों। जब एक बच्चा पहली बार आंखें खोलता है। तो वो मां की ही गोद होती है। वे मां के सबसे ज्यादा करीब होते हैं। जब तक बच्चे छोटे होते हैं तो मां उनकी देखभाल करती है। लेकिन इटली में एक ऐसा वाकया हुआ, जिसके बारे में जानकार आप हैरान हो जाएंगे।

आगे की स्लाइड में जानिए क्या किया उस 4 साल के मासूम ने

[/nextpage]

[nextpage title="next" ]

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो

एक चार साल के लड़के ने अपनी समझदारी से अपने मां की जान बचा ली। अब आप सोच रहे होंगे कि 4 साल का बच्चा अपनी मां की जान कैसे बचा सकता है तो बताते हैं आपको कि असल में हुआ क्या? बताया जा रहा है कि इटली में एक महिला कार चलाते समय हार्ट अटैक आ गया जिसकी वजह से वह बेहोश हो गई थी। बता दें कि उस महिला के साथ उसका 4 साल का बच्चा भी था। वह ये सब देख रहा था। जब उसने अपनी मां को बेहोश देखा, तो वह कार से बाहर निकल गया। इतना ही नहीं उस बच्चे ने कार से निकलने के बाद एक राहगीर से एंबुलेंस को फोन करने को कहा।

आगे की स्लाइड में जानिए क्या कहा उस मासूम से बच्चे ने

[/nextpage]

[nextpage title="next" ]

प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो

इसके बाद उस महिला को तुरंत हॉस्पिटल ले जाया गया खबर है कि जल्द उस महिला को छुट्टी मिल जाएगी बच्चे ने हॉस्पिटल में डॉक्टर्स से कहा कि ‘मम्मी ठीक नहीं लग रही थी।’

कहा जा रहा है कि इस 4 साल के मस्सों से बच्चे ने न केवल अपनी मां की जान बचाई है। उसने अपनी समझदारी का एक्साम्प्ल भी दिया है अभी महिला की तबियत ठीक है और वह जल्द ही हॉस्पिटल से घर जाने वाली है। लेकिन इससे ज्यादा उन्हें अपने बेटे के काम पर खुशी है। वह अपने मासूम बेटे को देखकर गर्व से मुस्कुरा देती हैं। लेकिन सोचने वाली बात है कि अगर बच्चे ने जरा भी देर लगाई होती तो शायद उसकी मां जिंदा नहीं होती।

[/nextpage]

shalini

shalini

Next Story