Top

आज से दिल्ली में होगी पानी की किल्लत, ये है वजह

यमुना में अमोनिया का स्तर बढ़कर 1.80 पीपीएम तक पहुंच गया है। शनिवार को इसमें काफी अधिक बढ़त हुई। सुबह इसका स्तर 1.5 पीपीएम था, तो शाम 6 बजे बढ़कर 1.80 पीपीएम हो गया।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 2 Dec 2018 3:26 AM GMT

आज से दिल्ली में होगी पानी की किल्लत, ये है वजह
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: दिल्लीवासियों को आज से पानी की किल्लत से जूझना पड़ सकता है।ऐसा हम नहीं बल्कि डिपार्टमेंट ऑफ़ दिल्ली जल बोर्ड(डीजेबी) ये बात कह रही है। डीजेबी के अधिकारियों का कहना है कि पानी की सप्लाई तो होगी, लेकिन उसके प्रेशर और समय में कटौती की जा रही है। इससे जलसंकट गहराएगा।

ये भी पढ़ें...दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर चिली अटैक, हमलावर गिरफ्तार

ये है वजह

यमुना में अमोनिया का स्तर बढ़कर 1.80 पीपीएम तक पहुंच गया है। शनिवार को इसमें काफी अधिक बढ़त हुई। सुबह इसका स्तर 1.5 पीपीएम था, तो शाम 6 बजे बढ़कर 1.80 पीपीएम हो गया। इसकी वजह से अब दिल्ली के 3 बड़े वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट की क्षमता 25 से 30 पर्सेंट तक कम हो गई है, ऐसे में रविवार से जलसंकट गहराएगा।

ये भी पढ़ें...दिल्ली पुलिस को मिली बड़ी सफलता ,ISJK के 3 आतंकी गिरफ्तार

पिछले साल के मुकाबले इस साल अधिक जलसंकट से सामना

पिछले साल यह समस्या दिसंबर के अंत मे शुरू हुई थी। लेकिन इस बार एक महीना पहले ही अमोनिया ने दिल्ली की परेशानी बढ़ाना शुरू कर दिया है। ऐसे में लग रहा है कि पिछली बार से भी अधिक जलसंकट दिल्लीवालों को झेलनी पड़ सकती है।

अमोनिया का सबसे अधिक असर वजीराबाद, चंद्रावल और ओखला वॉटर ट्रीटमेंट प्लांट पर पड़ा है। हालांकि अभी स्थिति यह नहीं आई है कि प्लांट बंद करने पड़ें। डीजेबी के अनुसार, अगर इससे अधिक अमोनिया बढ़ता है तो प्लांट को बंद करने के अलावा कोई चारा नहीं रह जाएगा।

रविवार को नॉर्थ दिल्ली, सेंट्रल दिल्ली और वेस्ट दिल्ली के एरिया के अलावा दिल्ली कैंट जैसे इलाके सबसे अधिक प्रभावित दिखेंगे। गौरतलब है कि अमोनिया की मात्रा सिर्फ 0.5 पीपीएम तक होनी चाहिए, जबकि इस समय इसका स्तर 3 गुना तक अधिक चल रहा है। अगर अब और अधिक इजाफा होता है तो सातों प्लांट पर इसका असर पड़ने लगागा। डीजेबी के अनुसार, स्थिति कभी भी गंभीर हो सकती है।

ये भी पढ़ें...पेंशन ने बढ़ाई टेंशन, केजरीवाल ने दिल्ली में पुरानी पेंशन बहाली का किया एलान

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story