Top

'Free kashmir' वाली ये लड़की! सामने आई सच्चाई, बताई पोस्टर लहराने की असली वजह

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में हुई हिंसा के बाद का विरोध अब 'फ्री कश्मीर' पर पहुंच गया है, जिसे लेकर विवाद खड़ा हो गया। दरअसल, मुंबई में जेएनयू हिंसा के खिलाफ छात्र गेटवे ऑफ़ इंडिया पर धरना प्रदर्शन कर रहे थे, इस दौरान एक लड़की 'फ्री इंडिया' का पोस्टर दिखाने लगी। जिसके बाद विवाद खड़ा हो  गया।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 7 Jan 2020 8:24 AM GMT

Free kashmir वाली ये लड़की! सामने आई सच्चाई, बताई पोस्टर लहराने की असली वजह
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई: जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में हुई हिंसा के बाद का विरोध अब 'फ्री कश्मीर' पर पहुंच गया है, जिसे लेकर विवाद खड़ा हो गया। दरअसल, मुंबई में जेएनयू हिंसा के खिलाफ छात्र गेटवे ऑफ़ इंडिया पर धरना प्रदर्शन कर रहे थे, इस दौरान एक लड़की 'फ्री इंडिया' का पोस्टर दिखाने लगी। जिसके बाद विवाद खड़ा हो गया। भाजपा समेत कई नेताओं ने इसका विरोध भी किया। लेकिन आखिर वो लड़की कौन हैं, और उसने जेएनयू विवाद को कश्मीर से क्यों जोड़ा? ये हर कोई जानना चाहता है।

गेटवे ऑफ़ इंडिया पर फ्री कश्मीर का लहराया था पोस्टर:

जानकारी के मुताबिक, फ्री इंडिया का पोस्टर लहराने वाली लड़की का नाम 'महक मिर्जा' है। वह मुंबई की रहने वाली है। महक लेखक है और छोटी काल्पनिक कहानियाँ लिखती हैं। वहीं ओपन माइक कार्यक्रम के जरिये इसे लोगों को सुनाती हैं। महक के कई ओपन माइक वीडियो सोशल मीडिया पर आसानी से नजर आ जायेंगे।

ये भी पढ़ें: JNU हिंसा में ‘कश्मीर फ्री’ का सुर क्यों अलाप रहे प्रदर्शनकारी, एक्शन में पुलिस

जेएनयू हिंसा को लेकर हो रहा था प्रदर्शन:

महक़ ने पोस्टर विवाद को बढ़ता देख इंस्टाग्राम पर एक वीडियो जारी कर मामले के सफाई दी। उन्होंने कहा, 'गेटवे ऑफ इंडिया पर प्रदर्शन के दौरान एक पोस्टर उठाया था। यह पोस्टर वहां ही पड़ा था। मैंने इसे सिर्फ इसलिए उठाया था क्योंकि मैं कश्मीर में इंटरनेट और मोबाइल सेवा बहाल करने की बात कहना चाह रही थी। मैं कश्मीरी नहीं बल्कि मुंबई की रहने वाली हूं। मैं किसी गैंग का हिस्सा नहीं हूं।' वहीं महक के साथी का नाम मोहम्मद मुनीम है जो मुंबई का रहने वाला है और कश्मीरी गीतकार व गायक है।

ये भी पढ़ें: 5 सवाल JNU बवाल पर: क्या है किसी के पास इसका जवाब?

गौरतलब है कि फ्री कश्मीर का पोस्टर सामने आने के बाद से भाजपा ने नवनिर्वाचित सीएम उद्धव ठाकरे पर निशाना साधा। दरअसल, भाजपा के वरिष्ठ नेता और महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से सवाल किया कि क्या उन्हें फ्री कश्मीर भारत विरोधी अभियान बर्दाश्त है? फडणवीस ने ‘फ्री कश्मीर’ के पोस्टर वाले विडियो ट्वीट कर लिखा, ‘यह किस बात का प्रदर्शन है? फ्री कश्मीर के नारे क्यों लगाए जा रहे हैं? हम मुंबई में इस तरह के अलगाववादी तत्वों को कैसे बर्दाश्त कर सकते हैं?’

अभिनेता अनुपम खेर ने उठाया सवाल:

वहीं अभिनेता अनुपम खेर ने भी इस मुद्दे पर ट्वीट कर प्रदर्शन के दौरान कश्मीर फ्री का पोस्टर दिखाए जाने पर सवाल खड़े कर दिए।



उन्होंने ट्वीट किया, JNU में हिंसा के विरोध में इस पोस्टर को मुंबई में क्यों प्रदर्शित किया जा रहा है? इसका क्या कनेक्शन है? क्या इस रैली में किसी भी जिम्मेदार व्यक्ति ने इस पोस्टर पर आपत्ति जताई? अगर नहीं। फिर मुझे खेद है कि यह छात्रों का आंदोलन नहीं है। इसका अलग मकसद है।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story