Top

खानपान: जन्माष्टमी पर घर में बनी इस बर्फी से लगाएं कान्हा को भोग, भाग जाएंगे हर रोग

suman

sumanBy suman

Published on 2 Sep 2018 12:27 PM GMT

खानपान: जन्माष्टमी पर घर में बनी इस बर्फी से लगाएं कान्हा को भोग, भाग जाएंगे हर रोग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जयपुर: कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व 3 सितम्बर को पूरे देश में हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा हैं। इस दिन सभी भक्तगण भगवान कृष्ण की भक्ति में लीन होते हुए उनकी पूजा करते हैं और उन्हें कई पकवानों के भोग चढ़ाए जाते हैं। बाजारों में मिलावट के चलते सभी घर पर ही मिठाइयां बनाना पसंद करते हैं। इसलिए घर पर ही गोंद की बर्फी कैसे बनाई जाए, वह बता रहे हैं।

आवश्यक सामग्री : - 50 ग्राम गोंद ,- 100 ग्राम मखाना , - 50 ग्राम बादाम, - 50 ग्राम काजू, - 25 ग्राम खरबूजे के बीज , - 1 कप कद्दूकस करा हुआ सुखा नारियल , - 1 कप घी (गोंद तलने के लिए), - 2 कप चीनी, - 1/2 छोटा चम्मच छोटी इलाइची का पाउडर , - 2 कप पानी ,

ऐसे बनाए कृष्ण का प्रिय पंचामृत, जिससे मिलेगा अमृतपान की अनुभूति

विधि : एक कढाई को गरम करे उसमे खरबूजे के बीज डाल के भूने जब बीज फूल जाये तो उसे बाहर निकाल ले। उसी कढाई में मखाने डाल के भून के निकाल ले। फिर कद्दूकस करा हुआ नारियल धीमी आंच पर 1-2 मिनट तक भूने के निकाल ले।गोंद के टुकड़े अगर बहुत बड़े हो तो उसे तोड़ के थोडा छोटा कर ले। कढाई में घी डाल के गरम करे।गोंद को गरम घी में डाल के मध्यम आंच पर तले, जब गोंद फूल के बड़े हो जाये तो तुरंत कढाई से बाहर निकाल ले। गोंद बहुत जल्दी जल के कड़वा हो जाता है। काजू, बादाम, और बीज को मिला के दरदरा पीस ले। मखाने को भी दरदरा पीस ले। गोंद को भी दरदरा पीस ले। अब एक कढाई में पानी और चीनी मिला के गरम करे, जब एक तार की चाशनी बन जाये तो चाशनी में पिसे हुए मेवे, नारियल, मखाना, गोंद और इलाइची पाउडर डाल के अच्छे से मिलाये, जब मिश्रण थोडा सूखने लगे तो गैस बंद कर दे। एक थाली में घी लगा के चिकना कर ले। बर्फी का सारा मिश्रण थाली में डाल के गीले हाथ से या फिर कलछुल के फैला के बराबर कर दे। फिर ठंडा होने दे। ठंडा होने के बाद मनचाहे आकार में काट के जन्माष्टमी पर भगवान को भोग लगाये और सबको खिलाये।

suman

suman

Next Story