×

इस प्रोफेसर का दावा नारियल तेल में है जहर, इस रिसर्च पर लोगों ने दिया ऐसा रिएक्शन

suman

sumanBy suman

Published on 25 Aug 2018 11:54 AM GMT

इस प्रोफेसर का दावा नारियल तेल में है जहर, इस रिसर्च पर लोगों ने दिया ऐसा रिएक्शन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

जयपुर:नारियल के तेल के गुणों के बारे में पूरी दुनिया के न्‍यूट्रिशनिस्‍ट कई तरह के दावे करते रहे हैं। मगर इस पर हार्वर्ड के एक प्रोफेसर के शोध ने तहलका मचा दिया है। एक शोध में हार्वर्ड यूनीवर्सिटी के टीएच चैन स्‍कूल ऑफ पब्‍लिक हेल्‍थ में प्रोफेसर और यूनिवर्सिटी ऑफ फ्रेबर्ग के इंस्टीट्यूट ऑफ प्रिवेंशन एंड ट्यूमर एपिडेमेलॉजी में डायरेक्टर डॉक्टर कैरिन मिशेल्स ने नारियल के तेल की तुलना जहर से की है। ये दावा उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान किया, जिसका विषय था कोकोनट ऑयल एंड अदर न्यूट्रिश्नल एरर्स।

डॉ. मिशेल्स ने कहा कि, नारियल तेल में सैचुरेटेड फैटी एसिड्स होते हैं, जो शरीर को नुकसान पहुंचते हैं। इससे हृदय रोग जैसी कई बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। बता दें कि नारियल तेल को आमतौर पर काफी लाभदायक माना जाता है। नारियल के तेल को सुपरफूड कहा जाता है और अधिकांश किचन में इसे खास जगह मिली हुई है।

डॉ. मिशेल की तरह कई स्वास्थ्य संगठन इसके इस्तेमाल को कम करने की सलाह भी देते हैं। इनके मुताबिक नारियल के तेज में 80 फीसदी सैचुरेटेड फैट होता है। पिछले साल अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन ने भी लोगों को नारियल तेल में पाए जाने वाले सैचुरेटेड फैटी एसिड के संबंध में दिशानिर्देश जारी किए थे। वैसे सैचुरेटेड फैट की अगर बात करें तो नारियल के तेल से ज्‍यादा सैचुरेटेड फैट तो बटर, घी, सॉस, हार्ड चीज के अलावा ऑयली फिश, नट्स, सीड्स, वेजिटेबल ऑयल जैसी चीजों में होता है जो कई अध्‍ययनों में सेहत के लिए फायदेमंद साबित हुए हैं।

OMG: इतनी कम उम्र के बच्चों में भी डिप्रेशन,पैरेंट्स हो जाए सावधान

सोशल मीडिया पर प्रोफेसर का दावा जैसे ही वायरल हुआ वैसे ही लोगों ने इस दावे को झुठला दिया। यह खबर सोशल मीडिया के जरिए गुरुवार तक भारतीयों को पता चली। उन्होंने प्रोफेसर और उनके शोध को जमकर गुस्‍सा उतारा। डॉ. मिशेल की स्पीच को यूट्यूब पर 10 लाख से ज्यादा व्यूज मिल चुके हैं। इस वीडियो पर प्रतिक्रियाओं की बाढ़ सी आ गई है।

हालांकि डॉ. मिशेल भले ही नारियल तेल के नकारात्मक असर की बात कर रहे हों मगर सभी हेल्थ एक्सपर्ट के बीच इस पर एकराय नहीं है। हार्वर्ड के ही एक दूसरे प्रोफेसर डॉ. वाल्टर सी विलेट का कहना है कि नारियल तेल फैट्स के मामले में कहीं बीच में आता है। यह हाइड्रोजेनेटेड तेलों की तुलना में तो अच्छा है लेकिन जैतून के तेल जैसे अनसैचुरेटेड वेजिटेबल ऑयल से बेहतर नहीं है।

दूसरी ओर हार्वर्ड के ही डॉ. वॉल्टर सी विलेट ने एक लेख में लिखा है कि नारियल का तेल लाभदायक एचडीएल कोलेस्ट्राल को बढ़ावा देता है। चाहे जैसा भी फैट हो वो एचडीएल लेवल को बढ़ाता है, नारियल तेल में ऐसा करने की विशेष क्षमता होती है। उनके मुताबिक नारियल तेल का इस्तेमाल करने में कोई बुराई नहीं है। उन्होंने भारतीय घी को खाने के लिए सबसे बेहतर बताया। उन्होंने लिखा है, मक्खन के मुकाबले घी लैक्टोस (दुग्ध-शर्करा) फ्री है और इसमें बहुत कम कोलेस्ट्रॉल है। इसमें विटामिन ए, डी, ई और के भरपूर मात्रा में हैं। इसमें आश्चर्यजनक ढंग से बेहतरीन एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, और ये हमारी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

suman

suman

Next Story