Top

आजाद 17 साल की उम्र में बने क्रांतिकारी, जानिए उनसे जुड़े और भी FACTS

By

Published on 23 July 2016 6:43 AM GMT

आजाद 17 साल की उम्र में बने क्रांतिकारी, जानिए उनसे जुड़े और भी FACTS
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊः आजादी के लिए किसी भी हद तक जाने और बेखौफ अंदाज के लिए चंद्रशेखर आजाद आज अमर हैं। आजाद 17 साल की उम्र में ही क्रांतिकारी बन गए थे। आइए जानते हैं उनके बारे में कुछ और भी बातें....

-गांधीजी द्वारा असहयोग आंदोलन को बंद कर दिए जाने पर आजाद की विचार में बदलाव हुए और वह हिन्दुस्तान रिपब्लिकन एसोसिएशन के सक्रिय सदस्य बन गए

-चंद्रशेखर आजाद 14 साल की उम्र में ही गांधी जी के असहयोग आंदोलन से जुड़ गए थे। उसी समय उन्हें अरेस्ट कर लिया गया था।

ये भी पढ़ें...चंद्रशेखर आजाद की 110वीं जयंती पर पीएम ने ट्वीट कर किया याद

-अरेस्ट होने के बाद जब उन्हें जज के सामने पेश किया गया तो उन्होंने जज को अपना नाम आजाद और पिता का नाम स्वतंत्रता और पता जेल बताया और यहीं से चंद्रशेखर सीताराम तिवारी का नाम चंद्रशेखर आजाद पड़ा।

-इलाहाबाद के अल्फ्रेड पार्क में पुलिस द्वारा आजाद को घेर लिया गया और उन पर गोलियां चलाना शुरू कर दिया, तब वह घंटो अकेले लड़ते रहे फिर खुद को गोली मार ली। चंद्रशेखर आजाद ने अपने जीवन में कसम खा रखी थी कि वो कभी भी जिंदा पुलिस के हाथ नहीं आएंगे।

ये भी पढ़ें...लोकमान्य तिलक की जयंती पर पीएम ने ट्वीट कर किया उन्हें याद

-जिस अल्फ्रेड पार्क में उनका निधन हुआ था आजादी के बाद उस पार्क का नाम चंद्रशेखर आजाद पार्क कर दिया गया और मध्य प्रदेश के धिमारपुरा गांव जहां वह रहे थे उसका नाम बदलकर आजादपुरा रखा गया।

-आजाद का जीवन आदिवासी इलाके में बीता इसलिए बचपन में आजाद ने भील बालकों के साथ खूब धनुष बाण चलाए। इस तरह उन्होंने निशानेबाजी बचपन में ही सीख ली थी

Next Story