Top

इंडोनेशिया में बलात्कारियों पर शामत, बना दिया जाता नपुंसक

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 27 Jun 2016 9:18 AM GMT

इंडोनेशिया में बलात्कारियों पर शामत, बना दिया जाता नपुंसक
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

इंडोनेशिया: रेप की घटना हमेशा से ही इंसानियत को शर्मसार करती आ रही है। आज के परिवेश में ये घटना हर दिन कहीं-ना कहीं सुनने को मिलती है। रेप के बाद समाज औरत को गुनाहगार मानकर उसे मानिसक रूप से कमजोर कर देता है। उसकी जिंदगी खत्म कर देता है।

रेप की वारदात एक औरत के जीवन को एक पल में मिटा देता है और कोई भी सभ्य समाज रेप की स्वीकरृति नहीं देता, क्योंकि रेप मौत से भी भयानक होता है इसलिए इसके लिए हर देश में अलग-अलग सजा के प्रावधान है। एक देश ऐसा भी है जिसने रेप की सजा के लिए ऐसा कानून बनाया है, जो हर बलात्कारी के लिए सबक बन सकता है जानते हैं कौन से देश में बलात्कारियों को नपुंसक बनाने की सज़ा मिलती है।

rape1

रेपिस्ट को नपुंसक बनाने के सजा इस्लामिक कंट्री इंडोनेशिया में बनाया गया है। इस देश में अपराध साबित होने पर बलात्कारियों को नपुंसक बनाने की सज़ा सुनाई जाती है। ये एक ऐसी सजा है जो हर बलात्कारी के लिए और बलात्कार की सोचने वाले अपराधियों के लिए सही सबक है।हालांकि इस सजा का प्रावधान हर देश को करना चाहिए।

दरअसल इंडोनेशिया में सुमंत्रा के जंगल में एक 14 साल की लड़की के साथ 14 लड़कों ने मिलकर सामुहिक बलात्कार किया था और बलात्कार करने के बाद उस लड़की की हत्या कर दी थी। हालांकि उन बलात्कारियों में कुछ नाबालिग भी थे।

इस घटना को लेकर वहां के आम लोगों के साथ-साथ महिला संगठनों में भी बहुत गुस्सा था। आंदोलनकारियों और संगठनों ने इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो पर सजायाफ्ता बाल यौन अपराधियों की सजा को बढ़ाने के लिए दबाव डाला था। जिसके बाद सरकार ने एक नया कानून बनाया, जिसमें सजा को 10 साल से बढ़ाकर 20 साल किया गया। बलात्कार के कानून को और भी ज़्यादा कठोर बना दिया गया है।

rape-2

जोको विडोडो ने कहा कि- आशा करता हूं कि इस कानून से चाइल्ड सेक्स क्राइमस को कम कर सकते हैं और अपराधियों को सज़ा देने में कोई बाधा नहीं आएगी।यूनीसेफ की रिपोर्ट 2008 के अनुसार इंडोनेशिया के पर्यटन स्थलों से सम्बद्ध 40 से ज्यादा गांवों में लगभग 14,000 बाल यौन उत्पीड़न होने के मामले सामने आए थे।

रेप की घटना सभ्य समाज की अमानवीयता और असामाजिकता को दर्शाती है, जिसके कारण मानव समाज के संस्कार और सम्मान कलंकित होता है। इंडोनेशिया में रेपिस्ट को नपुंसक बनाने की सजा से शायद बलात्कार की घटनाओं पर अंकुश लग सके और वहां की औरत सुरक्षित रह सके।

Newstrack

Newstrack

Next Story