Top

रंग-बिरंगे करवों से गुलजार हुए बाजार, ऐसे मनाया जाएगा करवाचौथ का त्योहार

महिलाओं की मानें तो सोने और चांदी के करवे का इस्तेमाल सिर्फ पैसे वाले लोग ही कर सकते हैं। लेकिन मिटटी के करवे सभी वर्गो के लिए सदाबहार होते है इनकी खूबसूरती की वजह से ही इन्हें महिलाओ की पूजा की थाली में खास जगह मिलती है। मिटटी के इन खूबसूरत करवो का बहुत महत्व है साथ ही यह बजट में भी है इसलिए यह महिलाओ की पहली पसंद है।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 18 Oct 2016 2:34 PM GMT

रंग-बिरंगे करवों से गुलजार हुए बाजार, ऐसे मनाया जाएगा करवाचौथ का त्योहार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : पीले चटक रंग से रंगे, गोते और किरकिरी से सजे मिट्टी के लोटे दुकानों पर सजे हैं। बाजार की रौनक बने मिट्टी के इन सजे लोटों को देखकर कोई भी अंदाजा लगा सकता है कि करवाचौथ आ गया है। शहर में जहां महिलाएं साड़ियों और गहने की खरीदारी में लगी हुई है, वहीं करवाचौथ में सबसे अहम मानें जाने वाले करवा लेना नहीं भूल रही है। चांदी और सोने के साथ साथ मिट्टी के करवों से पूरी मार्किट गुलजार है।

मिट्टी के खूबसूरत करवों का हैं महत्व

महिलाओं की मानें तो सोने और चांदी के करवे का इस्तेमाल सिर्फ पैसे वाले लोग ही कर सकते हैं। लेकिन मिट्टी के करवे सभी वर्गो के लिए सदाबहार होते हैं। इनकी खूबसूरती की वजह से ही इन्हें महिलाओं की पूजा की थाली में खास जगह मिलती है। मिट्टी के इन खूबसूरत करवों का बहुत महत्व हैं। इसके साथ ही यह बजट में भी है इसलिए यह महिलाओं की पहली पसंद है।

मार्केट में सजे रंग बिरंगे मिट्टी के करवे को देखकर किसी भी का मन उसे खरीदने को हो जाए। भले ही मायके से नई नवेली दुल्हनों को पीतल या चांदी के करवे उनके पहले करवाचौथ पर दिए जाते हैं ,लेकिन महिलाएं बाजार में सजे रंग बिरंगे मिट्टी के करवे खरीदने से खुद को रोक नहीं पाती।

karva-chauth-mehandi-luckno

महिलाओं में रहता है खासा उत्साह

करवाचौथ की तैयारी में राजधानी की महिलाएं खरीदारी करने में मशगूल है। इसके साथ ही सुहाग का सामान खरीदने में भी कोई कमी नहीं रखना चाहती है। सुहाग की निशानी बिछिया हो या पायल महिलाएं इन सभी चीजों को लेकर काफी चूजी हो गई है। पारंपरिक साड़ियो में महिलाएं ट्रेंडी भी दिखना चाहती है। इसलिए साड़ियो की दुकान में भी महिलाओं का खासा जमावड़ा नजर आने लगा

है। महिलाएं भले ही बिना पानी पिए चांद निकलने तक अपने पति के लिए व्रत रखती हो ,लेकिन उनमें करवाचौथ के त्योहार का खासा उत्साह रहता है।

सुहागिनें करेंगी पार्टी का आयोजन

बुधवार को पूरे देश में करवाचौथ का त्योहार पूरे धूमधाम से मनाया जाएगा। ऐसे में पति की लंबी आयु की कामना करने के लिए करवाचौथ का व्रत रखने से पहले महिलाएं इस खास त्यौहार में कोई कमी नहीं रहने देना चाहती है। लेकिन इस बार नवाबी नगरी में सुहागिनों ने करवाचौथ पार्टी का आयोजन भी करेंगी।

lko-newstrack-karva-chauth

मेहंदी बिन अधूरा है करवाचौथ

करवाचौथ हो और हाथों पर मेहंदी का चटख रंग ना नजर आए तो बात नहीं बनती। अपने पिया को रिझाने के लिए सुहागिनों ने मेहंदी की बुकिंग करवा ली है। अगर आप भी अपने पिया के नाम की मेहंदी ब्यूटी पार्लर से लगवाने के बारे में सोच रही है तो थोड़ा जल्दी कीजिए वजह यह है की ज्यादातर ब्यूटी पार्लर्स में मेहंदी लगवाने की बुकिंग फुल हो चुकी है और कोई नई बुकिंग नहीं की जा रही है।

पतियों के लिए भी करेंगी सरप्राइज प्लान

इस पार्टी में महिलाएं अपने दिल के राज खोलेंगी। वहीं अपनी महिला मंडली के साथ मिल कर अपने अपने पतियों के लिए सरप्राइज भी प्लान किया है। पहले जहां करवाचौथ सिर्फ पूजा और विधि विधान तक था। वहीं अब ट्रेंडी युग में महिलाओ ने इसमें आधुनिकता का तड़का लगाकर त्योहार के मजे को और दुगुना कर दिया है।

आगे की स्लाइड्स में देखिए फोटोज...

lko-karva-chauth-newstrack

आगे की स्लाइड्स में देखिए फोटोज...

karva-chauth-festival-news

आगे की स्लाइड्स में देखिए फोटोज...

karva-chauth-festival-lko

आगे की स्लाइड्स में देखिए फोटोज...

karva-chauth-festival-luckn

आगे की स्लाइड्स में देखिए फोटोज...

lucknow-newstrack-karva-cha

आगे की स्लाइड्स में देखिए फोटोज...

newstrack-lko-karva-chauth

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story