Top

जन्माष्टमी: 1111 गुब्बारों से सजेगा कोई मंदिर, तो कहीं 101 व्यंजनों का भोग

By

Published on 23 Aug 2016 11:17 AM GMT

जन्माष्टमी: 1111 गुब्बारों से सजेगा कोई मंदिर, तो कहीं 101 व्यंजनों का भोग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

SANDHYA YADAV SANDHYA YADAV

लखनऊ: कृष्ण जन्माष्टमी आ चुकी है। पूरे देश भर में इसकी भव्य तैयारियां शुरू हो गई हैं। मंदिरों की रंगाई-पुताई भी लगभग पूरी हो चुकी है। 25 अगस्त को भगवान श्रीकृष्ण के जन्मदिन के लिए कहीं शानदार झांकियां सजाई जा रही हैं, तो कहीं डिजाइनर लाइट्स का इंतजाम किया जा रहा है। शहर भर के मंदिरों में भगवान के भोग के लिए विशेष तैयारियां की जा रही हैं। रंग-बिरंगे कपड़े बन रहे हैं, तो कहीं उनके झूलों को फूलों से सजाने की ख़ास तैयारी की जा रही है। यशोदानंदन श्रीकृष्ण के जन्म पर भजन-कीर्तन करने के लिए बाहर से गवैये बुलाए जा रहे हैं।

krishna janmashtmi

महिलाएं जमकर कर रही खरीदारी

पंडितों के अनुसार इस बार कृष्ण जन्माष्टमी का यह अद्भुत संयोग पूरे 52 साल बाद आएगा। ऐसे में बने इस दिव्य योग पर भगवान श्रीकृष्ण से जो कुछ भी मनौती मांगने पर नटखट कृष्ण सबकी मनोकामना को पूरा करेंगे। यही कारण है कि महिलाएं भी यशोदा बनकर कृष्ण को प्यार और दुलार करना चाहती हैं। इसके लिए उन्होंने तैयारियां भी शुरू कर दी हैं। कोई झूले वाले खाटू श्याम को घर लाने की तैयारी कर रहा है, तो कोई बंशी बजैया मुरली मनोहर को।

krishna janmashtmi

मंदिरों में कुछ ऐसे हो रही है तैयारी

कृष्ण जन्माष्टमी को लेकर मंदिर ही नहीं बाजार भी जमकर गुलजार हैं। डालीगंज के दुकानदार रमेश का कहना है कि कृष्ण जन्माष्टमी का भक्तों में अलग ही उत्साह होता है। लोग भगवान के लिए रंग-बिरंगे कपड़े, मुकुट, मोरपंख, बांसुरी, मटकी, पालने-झूले और माखन-मेवा सहित मिश्री जैसी चीजों को जमकर खरीद रहे हैं। आलमबाग के मंदिर के पुजारी का कहना है कि इस बार भगवान कृष्ण को उनके जन्मदिन पर सहसाबीर मंदिर में 101 तरह के व्यंजनों का भोग लगेगा।

krishna janmashtmi

1111 गुब्बारों से होगी माधव मंदिर की भव्य सजावट

डालीगंज स्थित माधव मंदिर के पुजारी का कहना है कि इस बार जन्माष्टमी काफी ख़ास तरह से मनाई जाएगी। पूरे मंदिर में बाल-गोपाल के लिए गुब्बारों से सजावट की जाएगी। यह मंदिर करीब 75 साल पुराना है। वहीं पुजारी योगेश त्रिपाठी का कहना है कि जब भगवान कृष्ण की दही-हांडी फोड़ी जाएगी, उसका लाइव टेलीकास्ट माधव मंदिर के फेसबुक पेज पर किया जाएगा। इसके अलावा उन्होंने यह भी बताया कि इस बार भगवान कृष्ण को वही भोग लगाया जाएगा, जो भक्त लेकर आएंगे। इस बार उनके द्वारा बनाए गए भोग को ही प्रसाद के रूप में भक्तों में बांटा जाएगा।

pannalal-daliganj

कानपुर से आएगी खास कीर्तन पार्टी

लखनऊ के ही हरि मंदिर के पुजारी पंडित जगदीश नारायण शुक्ल जी का कहना है कि मुरली मनोहर के जन्म पर उनकी भक्ति आराधना के लिए खास कानपुर से भजन-कीर्तन की पार्टी आएगी। उन्होंने बताया कि जन्माष्टमी पर यशोदानंदन की पांच तरह से आरती की जाएगी।

krishna janmashtmi

Next Story