Top

काशी में चीन का रिकॉर्ड तोड़ने के लिए लगाई गई पोस्ट कार्ड की प्रदर्शनी

shalini

shaliniBy shalini

Published on 24 July 2016 10:27 AM GMT

काशी में चीन का रिकॉर्ड तोड़ने के लिए लगाई गई पोस्ट कार्ड की प्रदर्शनी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

वाराणसी: पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र काशी में वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने का सिलसिला लगातार जारी है। 126 घंटे कथक करके नृत्य में वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने वाली सोनी चौरसिया के बाद काशी में एक ऐसा शख्स है, जो अब तक दो वर्ल्ड रिकॉर्ड बना चुका है और अब वह तीसरा वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने की तैयारी में है। जो तीसरा वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने के लिए सब्जेक्ट चुना है, वो है लांगेस्ट लाइन ऑफ पोस्टकार्ड्स यानी पोस्ट कार्डों की लम्बी लाइन। वह शख्स है डॉ.जगदीश पिल्लई। जिन्होंने चीन द्वारा बनाए गए तीन महीने पुराने रिकॉर्ड को तोड़ने का दावा किया है।

postcard exibition

चीन में बनाया था 11863 पोस्ट कार्ड का रिकॉर्ड

डॉ.पिल्लई ने बताया कि शंघाई टाउन एंड कंट्री क्ल्ब चीन के द्वारा 19 अप्रैल 2016 तीन महीने पहले 11863 पोस्ट कार्ड (203.39) के साथ वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था। जब डॉ. पिल्लई ने 16200 पोस्ट कार्ड की लम्बी लाइन लगा कर चीन के रिकॉर्ड को ब्रेक करने का दावा किया है। डॉ. पिल्लई ने बताया कि अब ये रिकार्ड भारत के नाम हो जाएगा। कार्ड की प्रदर्शनी महमूरगंज स्थित निविदिता इंटर कालेज में लगाई गई है।

postcard exibition

२२ जुलाई फ्लैग एडाप्शन डे को चुना

बता दें कि २२ जुलाई का दिन डॉ. पिल्लई ने खासतौर पर चुना उसकी वजह थी कि २२ जुलाई 1947 को ही भारत का राष्ट्रीय झंडा को गोद लिया गया था। इसी साल अक्टूबर में पोस्टकार्ड को 162 वर्ष पूरा होगा। डॉ. पिल्लई ने इस रिकॉर्ड के लिए एक विशेष तरीका अपनाया। डॉ. ने बनारस के सभी स्कूलों में पोस्टकार्ड बांटे थे जिनपर पांच सवाल पूछे गए थे। इसी में राष्ट्रीय ध्वज के निर्माता का नाम भी पूछा था इसके अलावा भी कई सवाल पूछे गए थे। डॉ. पिल्लई ने बताया कि राष्ट्रीय ध्वज के बारे में जो सवाल पूछा गया था उसका जवाब ज्यादातर बच्चों ने डॉ. रवीन्द्रनाथ टैगोर बताया था जबकि इसका सही उतर ए. पिंगली वेंकैया है।

postcard exibition

पहले भी बना चुके हैं दो वर्ल्ड रिकॉर्ड

डॉ. पिल्लई ने बताया कि उन्हें वर्ष 2012 में सबसे कम समय में एनिमेशन मूवी बनाने पर गिनीज रिकॉर्ड के लिए नामांकित किया गया। इसके बाद इसी साल उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर सेहत का के सबसे बड़ा लिफाफा बनाकर गिनीज बुक के लिए भेजा है। अब डॉ. पिल्लई का ये तीसरा प्रयास है।

postcard exibition

कार्ड की लम्बाई और चौड़ाई

स्कूल के हाल में कार्ड को जमीन पर बिछाया गया। जिसकी लम्बाई 38.105.5 फीट, 11.85 सेंटीमीटर है और चौड़ाई 63.95 फीट, 19.44 मीटर थी। 9000 रुपए में खरीदा सरकारी पोस्टकार्ड ओरिजनल पोस्ट कार्ड के पीछे तिरंगे के बारे में पांच आब्जेक्टिव टाइप प्रश्न पूछे गए थे। सही उत्तर को टिक करके अपना नाम और क्लास लिखकर वापस लिया गया था गिनीज अथारिटी से अनुमति के लिए 11 जुलाई 2016 को प्रिंट करके शहर के कई स्कूलों में बांटा गया था

डॉ. पिल्लई इस साल सत्तरवां स्वतंत्रता दिवस को एक नए वर्ल्ड रिकॉर्ड के साथ 14 अगस्त की शाम को मनाने की तैयारी में है उसके अलावा कई स्कूल के बच्चों के साथ मिलकर मुस्कुराते रहो, शांन्ति एवं बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जैसे भी से विषयों में वर्ल्ड रिकार्ड बनाने की कोशिश में हैं।

shalini

shalini

Next Story