Top

माया को अपशब्‍द कहने वाले दयाशंकर की पत्‍नी बनीं BJP 'महिला मोर्चा' की प्रदेश अध्यक्ष

By

Published on 7 Oct 2016 1:34 PM GMT

माया को अपशब्‍द कहने वाले दयाशंकर की पत्‍नी बनीं BJP महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊः बीजेपी ने बसपा की अध्यक्ष मायावती को अपशब्द कहने के मामले में चर्चा में आए दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाति सिंह को महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया है। बीजेपी के महासचिव और प्रवक्‍ता विजय बहादुर पाठक ने शुक्रवार को कहा कि स्वाति सिंह को महिला मोर्चा की जिम्मेवारी दी गई है ।

यह भी पढ़ें... UP में स्वाति कार्ड खेलने पर BJP में मंथन, बना सकती है CANDIDATE

स्वाति के पति दयाशंकर सिंह बसपा प्रमुख मायावती को अपशब्द कहने को लेकर चर्चा में आए थे । उनके खिलाफ वारंट जारी हुआ और बाद में उन्हें बिहार के बक्सर में गिरफ्तार किया गया था ।

इन्‍हें भी मिला पद

-मोहनलालगंज से सांसद कौशल किशोर को अनुसूचित जाति मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है।

-अनुसूचित जनजाति मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष सांसद छोटे लाल खरवार।

-अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष हैदर अब्बास चाँद (वाराणसी) को बनाया गया है।

यह भी पढ़ें... BJP महिला मोर्चा का हल्‍ला बोल, BSP नेताओं की गिरफ्तारी की मांग

बीजेपी के लिए तुरुप का पत्ता होंगी स्वाति

बीजेपी ने स्वाति सिंह को शुक्रवार को प्रदेश महिला मोर्चा का अध्यक्ष बनाकर अपना कार्ड खेल दिया । स्वाति बीजेपी के लिए विधानसभा चुनाव में तुरुप का पत्ता साबित होंगी। इसके कयास पहले से लगाए जा रहे थे। बसपा प्रमुख मायावती को अपशब्द कहने के मामले में दयाशंकर को जेल तक की हवा खानी पड़ी थी। जब बीजेपी इस मामले में पिछले पायदान पर दिखाई दे रही थी तब स्वाति ने मोर्चा संभाला था और अकेले बसपा से मोर्चा लिया था।

केशव ने क्या कहा?

-यूपी बीजेपी अध्यक्ष ने स्वाति को तेजस्वी महिला करार दिया था ।

-उन्होंने दयाशंकर सिंह की पत्नी के संघर्ष की जमकर तारीफ की थी ।

-केशव ने कहा था कि जरूरी समझेंगे तो स्वाति को चुनाव भी लड़वाएंगे।

-उन्होंने कहा था कि फिलहाल प्राथमिकता बीएसपी नेता नसीमुद्दीन सिद्दीकी पर कार्रवाई कराना है।

सवर्ण कार्ड खेलने की तैयारी

-स्वाति के जरिए बीजेपी अब सवर्ण वोटरों को पक्ष में करने की तैयारी कर रही है।

-मायावती के खिलाफ एक संघर्षशील चेहरा भी पार्टी को स्वाति सिंह में दिख गया है।

-दयाशंकर बीते करीब 25 साल से बीजेपी का हिस्सा थे, उनको बाहर करने के बदले स्वाति को पार्टी में जगह देने की मांग उठ रही थी ।

-इसी गुणा-गणित के तहत स्वाति ने बीजेपी नेतृत्व पर हमला नहीं किया था ।

इस गणित पर बीजेपी की नजर

-यूपी में सवर्ण वोटर करीब 18 फीसदी हैं।

-इनमें से 8 फीसदी ठाकुर हैं। स्वाति सिंह भी ठाकुर हैं।

Next Story