Top

वाजपेयी जवाब से कर देते थे चुप, स्टेटमेंट्स जो विरोधी भी करते हैं याद

Admin

AdminBy Admin

Published on 25 March 2016 9:11 AM GMT

वाजपेयी जवाब से कर देते थे चुप, स्टेटमेंट्स जो विरोधी भी करते हैं याद
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊः अटल बिहारी वाजपेयी राजनेता के साथ साथ एक बेहतरीन वक्ता और महान कवि भी हैं। यह सभी लोकप्रिय नेताओं में से एक हैं। इन्होंने अपने भाषण के समय कुछ ऐसे जवाब दिए जिसे पढ़ कर आप भी दंग रह जाएंगे। तो आइए जानते हैं आपके लोकप्रिय नेता द्वारा दिए गए कुछ ऐसे ही जवाब...।

-बीजेपी बहुत राम की बातें करती है, पर उनमें कोई राम नहीं है। मेरा नाम तो राम ही है। -राम विलास पासवान

-पासवान जी हराम में भी राम होता है। -अटल बिहारी वाजपेयी

-बीजेपी में एक वाजपेयी का दल है और एक आडवानी का दल है। -रजत शर्मा

-मैं किसी दलदल में नहीं हूं, मैं औरों के दलदल में अपना कमल खिलाता हूं। -वाजपेयी

-वाजपेयी तो अच्छा है पर पार्टी ठीक नहीं है। -विपक्ष

-तो अच्छे वाजपेयी का आप, क्या करने का इरादा रखते हैं। -वाजपेयी

-यदि आपके पास बेनजीर भुट्टो के लिए आज रात कोई मैसेज हो तो आप क्या करेगें? -पत्रकार

-कोई बात नहीं मैं उन्हें बिना तकलीफ दिए अगली सुबह वह मैसेज भेज दूंगा।- वाजपेयी

-कश्मीर के बिना पाकिस्तान अधूरा है। -पाकिस्तान

-पाकिस्तान के बिना हुंदुस्तान अधूरा है। -वाजपेयी

-मैं अटल हूं, मैं बिहारी भी हूं। –(बिहार में रैली के दौरान) -वाजपेयी

-पड़ोसी कहते हैं कि एक हाथ से ताली नहीं बजती,हमने कहा कि चुटकी तो बज सकती हैं। –(आतंकवादी संगठन पाकिस्तान के जवाब में)-वाजपेयी

-आप मित्र बदल सकते हैं, पड़ोसी नहीं।- वाजपेयी

Admin

Admin

Next Story