×

देश में सबसे अधिक राजनीतिक पार्टियां उतरप्रदेश , बिहार और तमिलनाडु में

Charu Khare

Charu KhareBy Charu Khare

Published on 3 July 2018 8:10 AM GMT

देश में सबसे अधिक राजनीतिक पार्टियां उतरप्रदेश , बिहार और  तमिलनाडु में
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली। आजकल चुनावी मौसम शुरू होने वाला है। जाहिर है , बहुत से दलों में टूट फूट होगी। बहुत से नेता लोग अपनी अलग पार्टी बना लेंगे और देश में पहले से पंजीकृत पार्टियों की संख्या में इजाफा हो जायेगा।इस समय देश में कुल 2044 ऐसे राजनीतिक दल हैं जो पंजीकृत तो हैं लेकिन गैर मान्यताप्राप्त हैं। इनमे से 40 फीसदी केवल उतरप्रदेश , बिहार और तमिलनाडु में ही हैं।

भारत में गरीबी, नौकरी, समाज, महिलाएं और युवा राजनीतिक दलों के पसंदीदा मुद्दे हैं। इन्हें वे जनहित के मुद्दे बताते हैं। शायद यही वजह है कि कई राजनीतिक दल अपना नाम भी ऐसा रख लेते हैं जिससे वोटर्स को लुभाया जा सके या उन्हें यह बताया जा सके कि हम आपके लिए हैं। देश में ऐसी 2044 रजिस्टर्ड, किंतु गैर-मान्यता प्राप्त पार्टियां हैं। इनका विश्लेषण करने पर एक रोचक जानकारी सामने आई है। इसके मुताबिक देश में सबसे ज्यादा पार्टियों के नाम में समाज या सामाजिक शब्द जुड़ा है। ऐसा ही कुछ विकास, आम, जनता या प्रजा को लेकर भी है।

63 पार्टियों के नाम में लोकतांत्रिक, कांग्रेस या आंदोलन जैसे शब्द

- हरियाणा में 67, पंजाब में 57, मध्यप्रदेश में 48 और गुजरात में 47 गैर-मान्यता प्राप्त दल हैं।

- दिल्ली में हर 70 हजार की आबादी पर एक राजनीतिक पार्टी है। केंद्र शासित प्रदेशों में यह सबसे ज्यादा है।

- 63 पार्टियों के नाम में लोकतांत्रिक, कांग्रेस या आंदोलन जैसे शब्द जुड़ें। इनमें गांधी कांग्रेस भी।

- 40% रजिस्टर्ड पार्टियां सिर्फ तीन राज्यों- उत्तर प्रदेश, बिहार और तमिलनाडु में हैं।

‘गांधी’ से 7 गुना ज्यादा ‘क्रांतिकारी’

कई पार्टियों ने गांधी, क्रांति या क्रांतिकारी शब्द अपने नाम में जोड़ रखा है। दिलचस्प बात यह है कि क्रांतिकारी पार्टियों की संख्या गांधी के नाम वाली पार्टियों से 7 गुना ज्यादा है। इनमें महज़ 12 ने अपने नाम के साथ ‘गांधी’ को जोड़ा है, जबकि 87 पार्टियों के नाम में ‘क्रांति’ या ‘क्रांतिकारी’ लगा हुआ है।

सबसे ज्यादा पार्टियां ‘समाज’ या ‘विकास’ वाली

शब्दपार्टियों की संख्या
भारत या भारतीय404
समाज153
जनता या प्रजा132
विकास98
आम या युवा57

रोचक नाम वाली पार्टियां भी सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश में

पार्टी का नामकहां से
आधी आबादी पार्टीलखनऊ, उत्तर प्रदेश
आप सबकी अपनी पार्टीबिलासपुर, छत्तीसगढ़
अंजान आदमी पार्टीइलाहाबाद, उत्तर प्रदेश
बेरोज़गार आदमी अधिकार पार्टीफ़रीदाबाद, हरियाणा
अखिल भारतीय राष्ट्रीय परिवार पार्टीवाराणसी, उत्तर प्रदेश
ऑल इंडिया गांधी कांग्रेसबेंगलुरु, कर्नाटक
अखिल भारतीय गरीब पार्टीग़ाज़ियाबाद, उत्तर प्रदेश
अखिल भारतीय जनसमस्या निवारण पार्टीनागपुर, महाराष्ट्र
आज़ादी का अंतिम आंदोलन दलरायपुर, छत्तीसगढ़
आर्थिक व्यवस्था परिवर्तन पार्टीइलाहाबाद, उत्तर प्रदेश
भारत की लोक ज़िम्मेदार पार्टीलखनऊ, उत्तर प्रदेश

यूपी में हर साढ़े 4 लाख आबादी पर एक पार्टी

सबसे ज्यादा रजिस्टर्ड राजनीतिक दल उत्तर प्रदेश में हैं। यहां करीब 20 करोड़ की आबादी पर 433 पार्टियां हैं। यानी हर साढ़े चार लाख आबादी पर एक। दक्षिण में सबसे ज्यादा पार्टियों वाले तमिलनाडु में हर 5 लाख की आबादी पर एक राजनीतिक दल है।

राज्यपार्टियाआबादी
उत्तर प्रदेश43320 करोड़
दिल्ली2721.9 करोड़
तमिलनाडु1407.2 करोड़
बिहार12011 करोड़
आंध्र प्रदेश834.9 करोड़

7 पार्टियों को राष्ट्रीय दल के तौर पर मान्यता

भाजपा, कांग्रेस, बीएसपी, तृणमूल, कांग्रेस, एनसीपी, सीपीआई(एम)

51 पार्टियों को स्टेट पार्टी के तौर पर मान्यता

जेडीयू, सपा, अन्नाद्रमुक और डीमके समेत 51 पार्टियों को स्टेट पार्टी के तौर पर मान्यता है।

(स्रोत-चुनाव आयोग)

Charu Khare

Charu Khare

Next Story