Top

नवाजुद्दीन की ‘हरामखोर’ पर लटकी सेंसर बोर्ड की तलवार, नहीं हुई पास

shalini

shaliniBy shalini

Published on 15 Jun 2016 12:17 PM GMT

नवाजुद्दीन की ‘हरामखोर’ पर लटकी सेंसर बोर्ड की तलवार, नहीं हुई पास
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई: फिल्‍म 'उड़ता पंजाब' और सेंसर बोर्ड के बीच तमाशा मचने के बाद अब बोर्ड ने नवाजुद्दीन सिद्दिकी की अपकमिंग फिल्‍म 'हरामखोर' पर आपत्ति जताई है। वहीं यह फिल्‍म 17वें जियो मामी मुंबई फिल्‍म फेस्टिवल के इंडिया गोल्‍ड सेक्‍शन में सिल्‍वर गेटवे अवार्ड जीत चुकी है।

टीचर्स की गलत छवि दर्शाती है फिल्म

-इस फिल्‍म का डायरेक्शन श्‍लोक शर्मा ने किया है।

-फिल्‍म में एक ट्यूशन टीचर और 14 साल की बच्‍ची के बीच पनपे प्‍यार को दिखाया गया है।

-सेंसर बोर्ड का कहना है कि ‘हरामखोर’ का विषय बेहद ही आपत्तिजनक है।

-फिल्‍म में टीचर्स की छवि गलत तरीके से दर्शाने के कारण इस फिल्‍म को रिलीज होने नहीं दिया जा सकता।

क्या कहना है प्रोड्यूसर का कहना

-फिल्‍म के प्रोड्यूसर गुनीत मोंगा ने एक बातचीत के दौरान कहा कि,' सेंसर बोर्ड को फिल्‍म का विषय आपत्तिजनक लगा।

-इसलिए वो फिल्‍म को पास नहीं कर सकते।

-मैंने उन्‍हें बताया कि ऐसी चीजें होती है और फिल्‍म की पूरी शूटिंग मुंबई में हुई है।

-फिल्‍म दुनियाभर में कई अवार्ड्स जीत चुकी है और कई लोग भी इससे जुड़ चुके हैं.'

-उन्‍होंने आगे कहा कि,' य‍ह (हरामखोर) छोटे बजट की फिल्‍म है।

-हम दो बड़े बैनरों की सपोर्ट वाली फिल्‍म 'उड़ता पंजाब' की तरह कानूनी लड़ाई नहीं कर सकते।

-फिल्‍म जनता के आर्थिक सहयोग से बनाई गई है, इसलिए हम अदालत नहीं जा सकते'।

shalini

shalini

Next Story