Top

सत्यार्थी की युवाओं से अपील, बोले- बच्चों के हक के लिए आएं साथ

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 27 July 2016 6:44 PM GMT

सत्यार्थी की युवाओं से अपील, बोले- बच्चों के हक के लिए आएं साथ
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊः शांति का नोबल पुरस्कार हासिल करने वाले कैलाश सत्यार्थी ने युवाओं से अपील की है कि वे बच्चों को हक दिलाने के लिए उनका साथ दें। बुधवार को लखनऊ में डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम टेक्निकल यूनिवर्सिटी (एकेटीयू) में सत्यार्थी ने कहा कि युवा ही भारत की तकदीर हैं और जहां एक साथ इतने युवा हों, वहां पावर हाउस बन जाता है।

और क्या बोले कैलाश सत्यार्थी?

-लखनऊ ने मुझे दुनिया की सबसे खूबसूरत गिफ्ट दी है। मेरी पत्नी सुमेधा लखनऊ की हैं।

-सीएम अखिलेश के आवास पर मुझे एक से बढ़कर एक जुनूनी युवा मिले।

-लोहिया ने कहा था कि राजनीति लंबे वक्त का धर्म है। सीएम में ये बात देखने को मिली।

-नोबल पुरस्कार पाने वाले अलग नहीं होते।

-4 P यानी पीपुल (लोग), प्लैनेट (धरती), प्रॉस्पैरिटी (संपन्नता) और पीस (शांति) जरूरी हैं।

kalam-4 एक्टर दीया मिर्जा और एसिड अटैक पीड़िता लक्ष्मी

भेदभाव पर साधा निशाना

-कैलाश सत्यार्थी ने कहा कि संपन्नता आए, लेकिन भेदभाव रहेगा तो गलत है।

-सीरिया में सिगरेट से सस्ते में बिक रही हैं लड़कियां, 10 साल के बच्चे को बंदूक थमाई जा रही है।

kalam-2 कॉन्क्लेव में बोलते पूर्व क्रिकेटर जवागल श्रीनाथ

सीएम ने क्या कहा?

-युवा सपने को साकार करना चाहते हैं, किसी न किसी क्षेत्र को लीड करेंगे।

-युवा जब सपने देखें तो उसका कैनवास और एजेंडा बड़ा होना चाहिए।

-कलाम साहब सच्चे इंसान थे, उन्होंने यूपी की तरक्की के बारे में मुझे बताया।

-कलाम की बताई सभू योजनाएं यूपी में चल रही हैं।

kalam-3 कॉन्क्लेव में अपनी बात रखते परमवीर चक्र विजेता योगेंद्र कुमार

किनका हुआ सम्मान?

-कॉन्क्लेव में मोहसिन अंसारी को अवॉर्ड दिया गया।

-कैलाश सत्यार्थी को भी दिया गया अवॉर्ड।

-दीया मिर्जा, एसिड अटैक पीड़ित लक्ष्मी को अवॉर्ड मिला।

-परमवीर चक्र विजेता योगेंद्र कुमार यादव को भी अवॉर्ड दिया गया।

-कलाम पर दो वेबसाइट कलाम प्रोजेक्ट और कलाम चैलेंज भी लॉन्च की गईं।

फोटोः कॉन्क्लेव में कैलाश सत्यार्थी के साथ सीएम अखिलेश यादव

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story