Top

बस इतना सा ख्वाब है: उम्र 77, इरादे जवान, ऐसी है मुलायम के इस जबरा फैन की दास्तां

संगठन से लेकर सिंबल तक समाजवादी पार्टी में पिछले कई महीने से घमासान चल रहा है। इस घमासान में पार्टी दो गुटों में बंट गई है। मुलायम-अखिलेश आमने सामने खड़े हैं , लेकिन वाराणसी में एक ऐसा शख्स भी है जिसकी उम्र 77 साल है और वह मुलायम सिंह यादव के जबर फैन हैं।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 15 Jan 2017 12:54 PM GMT

बस इतना सा ख्वाब है: उम्र 77, इरादे जवान, ऐसी है मुलायम के इस जबरा फैन की दास्तां
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

वाराणासी: संगठन से लेकर सिंबल तक समाजवादी पार्टी में पिछले कई महीने से घमासान चल रहा है। इस घमासान में पार्टी दो गुटों में बंट गई है। मुलायम-अखिलेश आमने सामने खड़े हैं , लेकिन वाराणसी में एक ऐसा शख्स भी है जिसकी उम्र 77 साल है और वह मुलायम सिंह यादव के जबरा फैन हैं। यही वजह है कि वह पिछले 10 साल से नंगे पैर रहते हैं। आप भी जानिए आखिर कौन है वो शक्स और क्या है उसका ख्वाब ....

हम बात कर रहे हैं 77 साल के किसान महंगू यादव की। जो वाराणसी के चिरईगांव में रहते हैं। वह मुलायम के कट्टर समर्थक हैं और खुद को समाजवादी पार्टी का सच्चा सिपाही मानते हैं। हालांकि समाजवादी पार्टी में चल रही तकरार से वह आहत हैं और चाहते हैं कि जल्द से जल्द मुलायम-अखिलेश साथ हो जाएं और सूबे की समाजवादी सत्ता बरकरार रहे।

महंगू यादव बताते हैं वह पिछले दस साल से इसलिए नंगे पांव है जिससे मुलायम सिंह यादव को पीएम की कुर्सी पर देख सकें। यही वजह है कि नंगे पांव वह दिन भर पार्टी के लिए पूरे जिले में साइकिल और पैदल घूम-घूम कर प्रचार भी करते हैं।

77 साल के महंगू यादव का शरीर भले ही बूढ़ा हो गया है पर उनके इरादे जवान हैं। महंगू यादव वह शुरुआत से ही समाजवादी पार्टी से जुड़े हैं पर उन्होंने पार्टी से कुछ मांगा नहीं और वह कुछ चाहते भी नहीं हैं।

महंगू कहते हैं कि उनकी बस इतनी सी चाहत है कि नेताजी भारत के पीएम बनें। इसी ख्वाब को लेकर वह दिन रात पार्टी के प्रति समर्पित रहते हैं।

पार्टी के प्रति महंगू यादव के इस समर्पण पर पार्टी के नेता और पदाधिकारी भी उन्हें सलाम करते हैं। महंगू यादव अपने गांव से रोज 25 किमी दूर समाजवादी पार्टी कार्यालय आते हैं और पार्टी कार्यालय में ईश्वर को याद कर नंगे पैर साइकिल पर या फिर पैदल पार्टी के प्रचार में लग जाते हैं।

इससे पार्टी के जिला अध्यक्ष पीयूष यादव भी उनके सामने नतमस्तक नजर आते हैं। उनका कहना है कि दादा (महंगू यादव) हमारे युवा कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियो के लिए एक प्रेरणा हैं। इन्हीं से हमें पार्टी के प्रति निष्ठा और कर्तव्य का जज्बा मिलता है।

महंगू यादव के बेटे अशोक यादव बताते हैं कि इनकी जिंदगी समाजवादी पार्टी और मुलायम सिंह तक ही सीमित है। सुबह खेती करने के बाद वह लगातार घूम-घूम कर पार्टी और मुलायम सिंह का प्रचार करते हैं। इन्हें कई बार हमने जूता या चप्पल पहनाने की कोशिश की पर वह अपने संकल्प को किसी भी कीमत पर तोड़ना नहीं चाहते हैं।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story