Top

सोने-चांदी के गहनों को मात दे रही वर्षा के हुनर की पेपर ज्वेलरी

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 8 March 2016 9:54 AM GMT

सोने-चांदी के गहनों को मात दे रही वर्षा के हुनर की पेपर ज्वेलरी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

Himanshu Bhakuni Himanshu Bhakuni

लखनऊ: आपने सोने-चांदी और हीरे की ज्वेलरी तो पहनी होगी, लेकिन क्या आप ने कभी कागज़ से बनी ज्वेलरी देखी है? जी हाँ, ये मजाक नहीं हकीकत है। राजधानी में पेपर क्वीन के नाम से मशहूर पेपर ज्वेलरी डिजाइनर वर्षा श्रीवास्तव कागज़ की ज्वेलरी बनाकर सोने-चांदी से बनी ज्वेलरी को मात दे रहीं हैं। वर्षा ने अपनी क्रिएटिविटी से बनाई है समाज में नई पहचान और अपने हुनर के दम पर महिलाओं की बढ़ा रही हैं शान। आइए, हम आपको बताते हैं अपने हुनर की बरसात करने वाली वर्षा श्रीवास्तव के बारें में

varsha-showing-jewellery फाइल फोटो: वर्षा श्रीवास्तव

क्या है पेपर ज्वेलरी

-पेपर ज्वेलरी कागज़ से बनी ज्वेलरी होती है।

-कागज को फोल्ड कर अलग-अलग आकर दिए जातें हैं।

-ये ज्वेलरी वाटरप्रूफ होने के कारण पानी लगने पर खराब नही होती है।

-ज्वेलरी बनाने के लिए क्विलिंग पेपर, ग्लू, मोती, राइन्स्टोन, वाटरकलर का इस्तेमाल होता है।

-पेपर ज्वेलरी बनाने में 2 से 8 घंटे का समय लगता है।

varsha-jewellery

सोने-चांदी से ज्यादा फेमस हो रही पेपर ज्वेलरी

-अन्य धातुओं के अपेक्षा पेपर ज्वेलरी बहुत हल्की होती है।

-कहीं पर भी ले जाने में कोई दिक्कत नहीं होती है।

-इको फ्रेंडली होने के कारण यह बॉडी को नुक्सान नहीं पहुंचाती है।

-पेपर ज्वेलरी सोने-चांदी की ज्वेलरी न खरीद पाने वाली लड़कियों के लिए ख़ास है।

varsha-Paper-jewellery

कम पैसों मे तैयार पेपर ज्वेलरी

-वर्षा अपनी ज्वेलरी को वर्षा क्रिएशन के नाम से ऑनलाइन बेचती हैं।

-पेपर ज्वेलरी की कीमत 49 रुपए से लेकर 4000 रुपए तक है।

-लोगो की डिमांड के अनुसार ये ज्वेलरी कस्टमाइज होती है।

-आजकल लोग मैचिंग ज्वेलरी की ओर आकर्षित होते हैं।

-पेपर ज्वेलरी किसी भी ड्रेस की हुबहू मैचिंग बनती है।

varsha-paper-jewels

मुख्यमंत्री की पत्नी को गिफ्ट की पेपर ज्वेलरी

-मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी सांसद डिंपल यादव ने भी वर्षा के हुनर को सराहा।

-एक स्टाल पर डिंपल यादव ने वर्षा की पेपर ज्वेलरी देखी।

-वर्षा ने अपनी पेपर ज्वेलरी डिंपल यादव को गिफ्ट दे दी।

वर्षा की पेपर ज्वेलरी देखती डिंपल यादव वर्षा की पेपर ज्वेलरी देखती डिंपल यादव

क्या कहती हैं वर्षा

- वर्षा कहती हैं कि पेपर ज्वेलरी लेटेस्ट फैशन ट्रेंड बन चुका है।

-अभी तक 500 से भी ज्यादा पेपर ज्वेलरी बना चुकी हैं।

-लोग जब मेरी पेपर ज्वेलरी को पसंद करते हैं तो मुझे बहुत प्रेरणा मिलती है।

bunch-of-paper-jewellery

कौन है वर्षा श्रीवास्तव

-वर्षा श्रीवास्तव 25 साल की एमबीए लास्ट इयर की स्टूडेंट और एक वीमेन इंटरप्रेन्योर हैं।

-वर्षा के परिवार में माता-पिता और एक छोटा भाई है।

-इन्होंने एयरहोस्टेस का भी कोर्स किया है।

-वर्षा लखनऊ के राजाजीपुरम में रहती हैं।

varsha-jwellery

संभाली घर की जिम्मेदारी

-वर्षा जब 12वीं क्लास मे थी तो उनके पिता की अचानक तबीयत खराब हो गई।

-वर्षा के उपर घर की सारी ज़िम्मेदारी आ गई।

-घर की बड़ी बेटी होने के नाते वर्षा ने फॅमिली की जिम्मेदारी उठाने का फैसला किया।

Varsha-srivastava-jewels

नाम एक काम अनेक

-वर्षा बहुमुखी प्रतिभा की धनी है।

-एंकरिंग, कुकिंग, क्राफ्टिंग, टैटू आर्टिस्ट, नेल पेंटिंग और मेहंदी डिजाइन में भी जीते कई अवार्ड।

-इवेंट मैनेजमेंट, आर्ट, पेंटिंग, फोटोग्राफी और पेंसिल की नोक पर डिजाइनिंग करने का है शौक।

varsha-engraving-pencil

गरीबों और महिलाओं को सशक्त बनाना है मकसद

-वर्षा अभावग्रस्त बच्चों के पास जाकर उन्हें फ्री में पेपर ज्वेलरी बनाना सिखाती हैं।

-असहाय महिलाओं को सशक्त बनाने का करती हैं हमेशा प्रयास।

varsha-teaching-jewellery

सीखने-सिखाने को हरदम तैयार

-वर्षा अब तक 100 से ज्यादा वर्कशॉप दे चुकी हैं।

-ये इवेंट्स में भी अपनी ज्वेलरी के स्टाल लगाती हैं।

-वर्षा हर दिन अपने क्रिएटिव माइंड से कुछ अलग बनने की कोशिश करती हैं।

varsha-ear-rings

Newstrack

Newstrack

Next Story