Top

ऐसी अनोखी सेल्फी दिलाएगी रेस्टोरेंट के बिल में 40% तक डिस्काउंट, जानें कैसे?

By

Published on 8 Sep 2016 4:51 AM GMT

ऐसी अनोखी सेल्फी दिलाएगी रेस्टोरेंट के बिल में 40% तक डिस्काउंट, जानें कैसे?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आगरा: अगर आप ताजनगरी आगरा के बाशिंदे हैं और घर से बाहर खाना खाने के लिए अच्छे रेस्टोरेंट में जाने की चाहत रखते हैं।लेकिन आप चाहते हैं कि आपको अच्छा डिस्काउंट भी मिले, तो अपने यहां एक पौधा लगाइए, हर साल उसके साथ सेल्फी लीजिए और जाइए रेस्टोरेंट में, जहां आपको मिलेगा 20 से 40 प्रतिशत तक डिस्काउंट। जी हां, पर्यावरण संरक्षण और हरियाली बढ़ाने के लिए अंबेडकर विवि के इंस्टीट्यूट ऑफ टूरिज्म एंड होटल मैनेजमेंट (आइटीएचएम) द्वारा ने यह मुहिम शुरू की है। इसके लिए अंबेडकर विवि के इंस्टीट्यूट ऑफ टूरिज्म एंड होटल मैनेजमेंट (आइटीएचएम) द्वारा ऑनलाइन ट्री बैंक ऑफ इंडिया तैयार किया जा रहा है। अभी आगरा में और जल्द देशभर के चुनिंदा होटल और रेस्टोरेंट में आपको डिस्काउंट मिलेगा।

आगे की स्लाइड में जानिए क्यों शुरू की गई यह अनोखी मुहिम

पर्यावरण संरक्षण के लिए विवि के आइटीएचएम द्वारा अनूठी मुहिम शुरू की जा रही है। इसमें लोगों को पौधे लगाने के साथ ही पांच साल तक उनके रख-रखाव के लिए प्रेरित किया जाएगा। जहां इस से लगातर बढ़ रहे प्रदूषण से काफी हद तक निजात मिलेगी, वहीं हर तरफ हरियाली विकसित होगी।

आगे की स्लाइड में जानिए क्या किया जा रहा है इसके लिए

संस्थान के निदेशक डॉ. लवकुश मिश्र ने बताया कि इसके लिए ऑनलाइन ट्री बैंक ऑफ इंडिया तैयार की जा रही है। इसमें संस्थान के छात्रों के साथ ही आम लोग भी पंजीकरण करा सकते हैं। उन्हें एक लॉगइन आईडी दी जाएगी, पौधा लगाने के बाद उसके साथ सेल्फी लेकर अपलोड करना होगा।

आगे की स्लाइड में जानिए किसके साथ करें सेल्फी अपलोड

उन्होंने बताया कि इस तरह पांच साल तक हर साल अपने जन्मदिन पर पौधे के साथ सेल्फी लेकर अपलोड की जा सकेगी। इससे एक रिफरेंस नंबर जेनरेट होगा, इससे उन्हें होटल और रेस्टोरेंट में 20 से 50 फीसद तक की छूट मिलेगी। निदेशक डॉ. लवकुश मिश्र ने बताया कि इसके लिए बड़े ग्रुप और रेस्टोरेंट से संपर्क किया जा रहा है, कई ग्रुप इसमें दिलचस्पी दिखा चुके हैं। इस मुहिम से हजारों लोगों को जोड़ने के प्रयास किए जाएंगे, इसके लिए अन्य संस्थानों से भी संपर्क किया जा रहा है।

Next Story