पढ़ाई नहीं पॉर्न देख रहे बच्चे, स्कूल का WhatsApp ग्रुप देख हिल गए लोग

एक स्कूल के प्रिंसिपल ने अपना परिचय छुपाते हुए बताया कि, ”हमें पिछले महीने क्लास 5 के वाट्सऐप ग्रुप में एक आपत्तिजनक वीडियो क्लिप मिली थी। हमने छात्रों के माता-पिता को बुलाया, हालांकि उन्होंने ऐसे किसी वीडियो के भेजने की बात को नकार दिया।”

online class

पढ़ाई नहीं पॉर्न देख रहे बच्चे, स्कूल का WhatsApp ग्रुप देख हिल गए लोग (photo- social media)

नई दिल्ली: कोरोना महामारी के दौरान बच्चों की सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए स्कूलों ने ऑनलाइन क्लासेस की सुविधा उपलब्ध कराई, ताकि पढ़ाई को लेकर बच्चों का कोई नुकसान ना हो। इसके लिए वाट्सऐप के जरिए बच्चों और उनके पैरेंट्स को स्कूल से जुड़ी सभी जानकारियां भेजी जाती हैं। इसी वाट्सऐप का फायदा उठाते हुए दिल्ली के एक बच्चे की ऑनलाइन क्लास के वाट्सऐप ग्रुप में पोर्न वीडियो भेज दिया गया, जिसके उस स्कूल में हड़कंप मच गया। जानकारी के मुताबिक, बच्चे के पैरेंट्स ने बताया है कि ये वीडियो ग्रुप में गलती से सेंड हो गया था। वहीं, उत्तरी दिल्ली के नगर निगम ने सभी पैरेंट्स को चेताया है कि अगर ऐसी गलती दोबारा हुई तो उन पैरेंट्स के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएंगी।

वाट्सऐप ग्रुप में मिली अश्लील वीडियो क्लिप

बता दें कि इस मामले की जानकारी एक मीडिया रिपोर्ट के माध्यम से सामने आई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यह मामला दिल्ली के जहांगीरपुरी का बताया गया है, जहां एक स्कूल के प्रिंसिपल ने अपना परिचय छुपाते हुए एक शर्त रखते हुए इस मामले की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि, ”हमें पिछले महीने क्लास 5 के वाट्सऐप ग्रुप में एक आपत्तिजनक वीडियो क्लिप मिली थी। क्लिप को छात्र के रजिस्टर्ड नंबर से भेजा गया था। हमने छात्रों के माता-पिता को बुलाया, हालांकि उन्होंने ऐसे किसी वीडियो के भेजने की बात को नकार दिया।”

“प्रश्न के अलावा ग्रुप्स में कुछ न करें साझा”

वहीं प्रिंसिपल ने यह भी बताया है कि हमारे शिक्षक नियमित रूप से उन ग्रुप्स में मैसेज भेजते हैं जो माता-पिता से अनुरोध करते हैं कि वे ऑनलाइन कक्षाओं से संबंधित किसी भी प्रश्न के अलावा ग्रुप्स में कुछ भी साझा न करें। अब, हमने शिक्षा विभाग द्वारा जारी इस आदेश को साझा किया है।”

online class- whatsaap

दिल्ली के नगर निगम ने दी चेतावनी

बता दें कि इस हरकत के बाद उत्तरी दिल्ली के नगर निगम ने सभी पैरेट्स को चेताया है कि ऐसी किसी भी पुनरावृत्ति के मामले में बिना किसी देरी के आरोपी पैरेंट्स के खिलाफ FIR दर्ज की जानी चाहिए।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App