राजनाथ ने देविका को दी बधाई, कहा-जीका वायरस की खोजकर देश का बढ़ाया मान

मेरठ: केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जिका वायरस की गुत्थी सुलझाने वाली छात्रा देविका सिरोही को ट्वीट कर शुभकामनाएं दी हैं। देविका यूपी के मेरठ की रहने वाली हैं। वो जिका वायरस की गुत्थी सफलतापूर्वक सुलझाने वाले अमेरिकी दल में शामिल हैं। उस 7 सदस्यीय शोध दल की वो सबसे कम उम्र की सदस्य है, जिसने पहली बार जिका वायरस की  की गुत्थी सुलझाई है।

देविका ने 31 मार्च 2016 को परडयू यूनिवर्सिटी लाफयिट यूएसए में शोध के अंतर्गत जी वायरस की खोज की है। राजनाथ सिंह ने अपने ट्वीट में कहा कि देविका की उपलब्धि पर परिवार, प्रदेश समेत पूरे देश को नाज है। उन्‍होंने कहा कि देविका को बहुत-बहुत बधाई जो जिका वायरस की गुत्थी सफलतापूर्वक सुलझाने वाले में सफल तो हुई और ग्लोबल स्तर  पर देश का मान बढ़ाया है। वो अमेरिकी शोध दल का हिस्सा है।

गृहमंत्री ने कहा कि देविका ने न केवल अपने परिवार को, बल्कि पूरे देश को गौरवान्वित किया है। उन्होंने कहा, देविका की उपलब्धि ने लड़कियों की पढ़ाई का महत्व बताया है। हमारा ध्यान बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ पर केंद्रित होना चाहिए।

क्या है जिका वायरस?
जीका वायरस डेंगू की तरह बेहद खतरनाक और अजन्मे बच्चे के मस्तिष्क को हानि पहुंचाने वाला वायरस है।वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन ने भी ग्लोबल स्टेज पर जीका वायरस को पब्लिक के हेल्थ के लिए आपातकाल घोषित किया है। ये प्राणघातक बीमारियों को उत्पन्न करने वाले मच्छरों से संबंधित है।