Top

फेक वीडियो के खिलाफ सपा चलाएगी अभियान, IT सेल का अहम रोल

Charu Khare

Charu KhareBy Charu Khare

Published on 22 July 2018 5:43 AM GMT

फेक वीडियो के खिलाफ सपा चलाएगी अभियान, IT सेल का अहम रोल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर : आने वाले 2019 के लोकसभा चुनाव में सबसे ज्यादा सोशल मीडिया एक्टिव दिखने वाला है। जी हां, क्योंकि अब बाकी चीजों की तरह चुनावी प्रचारों ने भी डिजिटल रंग ले लिया है इसीलिए इस चुनाव का सबसे बड़ा प्रचार-प्रसार फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सऐप पर होगा।

एक ओर जहां सभी राजनैतिक पार्टियों ने सभी अपनी-अपनी आईटी सेल को मजबूत करना शुरू कर दिया हैl वहीँ सबके प्रचार-प्रसार का काम भी शुरू हो चुका है। दरअसल, सभी पार्टियों की नजर में वो वोटर हैं जिनकी उम्र 18 से 35 है ऐसा इसीलिए क्योंकि यही वोटर आज सबसे ज्यादा स्मार्टफोन का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसी के मद्देनजर बीजेपी ने उत्तर प्रदेश में एक लाख आईटी सेल वर्करों को मैदान में उतारा हैं। वहीँ अब सपा ने भी अपनी आईटी टीम को मजबूत करने के लिए प्रशिक्षण कार्य शुरू कर दिया है।

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एसडीऍफ़ (समाजवादी डिजिटल फ़ोर्स) का गठन किया है। इसके लिए एक वेब साईट samajwadidigitalforce.comका लाँच किया है जिसमे कोई भी जाकर एसडीएफ में अपना रजिस्ट्रेशन करा सकता है। सपा ने आईटी की जिम्मेदारी धर्मवीर सिंह यादव और राजेश यादव को दी है। लखनऊ से आये धर्मवीर सिंह और राजेश यादव ने डिजिटल फ़ोर्स को प्रशिक्षित किया।

दरअसल, सपा का आरोप है कि युवा वोटरों को बीजेपी सोशल मीडिया में वीडियो और फोटो को एडिट कर और गलत आंकड़े पेश कर युवाओं को भटकाने का काम कर रही है। सपा सरकार में हुए विकास कार्यों को सोशल मीडिया में बीजेपी अपनी सरकार का विकास कार्य बता रही है।

सपा के आईटी सेल प्रभारी धर्मवीर यादव बीते शनिवार को कानपुर पहुंचे और डिजिटल फ़ोर्स का प्रशिक्षण दिया। उन्होंने कहा कि समाजवादी डिजिटल फ़ोर्स का काम है। सोशल मीडिया के महत्वपूर्ण प्लेटफार्म यूट्यूब ,फेसबुक ,ट्विटर ,व्हाट्सअप पर पार्टी के कार्यों को लोगों तक पहुंचाना। उन्होंने कहा कि कई बार विरोधी पार्टियां फोटो को एडिट कर या फिर फेक वीडियो से पार्टी की इमेज ख़राब करते है।

ऐसे में सोशल मीडिया से प्रभावित होकर लोग पार्टी के विषय में नकारात्मक धरना बना लेते हैं। इस स्थिति में लोगों तक सच्चाई पहुंचाने का काम एसडीएफ करेगी, बीजेपी अनर्गल प्रचार-प्रसार करके जनता को गुमराह कर रही है।

एसडीऍफ़ प्रधानमन्त्री के ट्विटर पर 10 सवाल जरूर करेंगे, 2014 के लोकसभा चुनाव में जनता से वादा किया था कि विदेशों से काला धन लाएंगे, प्रतिवर्ष 2 करोड़ नौकरी देंगे, किसानों की आय दोगुनी करना ,राम मंदिर का निर्माण कश्मीर से धारा 370 हटाना ,सभी भारतीयों के एकांउट पर 15-15 लाख रुपये आना ,आतंकवाद का जड़ से सफाया लोकपाल का गठन ,गंगा सफाई जैसे मुद्दों पर सोशल मिडिया में बीजेपी को घेरने का काम करेंगे।

लोकसभा चुनाव से पहले पूरे प्रदेश में बड़ी संख्या में समाजवादी डिजिटल फ़ोर्स को मैदान पर उतारा जायेगा। जिसका असर सोशल में बहुत ही जल्द देखने को मिलेगा।

Charu Khare

Charu Khare

Next Story