Top

सीमांचल एक्सप्रेस हादसे का सच आया सामने, ग्रामीणों ने किया पथराव

आज तड़के बिहार से दिल्ली आ रही सीमांचल एक्सप्रेस की 11 बोगियां पटरी से उतर गईं। यह ट्रेन बिहार के जोगबनी से दिल्ली के आनंद विहार टर्मिनल आ रही थी। यह घटना सहदोई बुजुर्ग के पास घटी। हादसे में अब तक 7 लोगों की मौत हो चुकी है और कई लोग घायल हैं। जिन्हें पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 3 Feb 2019 6:37 AM GMT

सीमांचल एक्सप्रेस हादसे का सच आया सामने, ग्रामीणों ने किया पथराव
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

पटना: आज तड़के बिहार से दिल्ली आ रही सीमांचल एक्सप्रेस की 11 बोगियां पटरी से उतर गईं। यह ट्रेन बिहार के जोगबनी से दिल्ली के आनंद विहार टर्मिनल आ रही थी। यह घटना सहदोई बुजुर्ग के पास घटी। हादसे में अब तक 7 लोगों की मौत हो चुकी है और कई लोग घायल हैं। जिन्हें पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

हादसे की भयावहता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि ट्रेन के डिब्बे एक के ऊपर एक चढ़ गए थे। हादसे से गुस्साए ग्रामीणों ने राहत एवं बचाव दल पर पथराव किया।

हादसे को लेकर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने कहा, 'प्रथम दृष्ट्या ऐसा लग रहा है कि यह हादसा ट्रैक बदलते समय पटरी टूटने से हुआ है। बरौनी के स्टेशन यार्ड के अंतिम छोर पर पटरी टूटी हुई थी। प्रभावित 12 कोचों को हाजीपुर के लिए रवाना कर दिया गया है जहां इसमें और कोच जोड़े जाएंगे। इसके बाद ट्रेन आनंद विहार टर्मिनल के लिए रवाना हो जाएगी।'

ये भी पढ़ें...UP में बड़ा रेल हादसा: न्यू फरक्का एक्सप्रेस के चार डिब्बे पटरी से उतरे, 7 की मौत

रेलवे ने बयान जारी बताया है कि 7 मृतकों में से 6 की पहचान कर ली गई है। एक की पहचान होना अभी बाकी है। गंभीर रूप से घायलों की संख्या 3 जबकि सामान्य घायलों की संख्या 27 है। सभी यात्रियों को चाय, खाने के पैकेट और पानी दिया गया है। हर कोच में आरपीएफ के जवान हैं। प्रभावित यात्रियों को बस के द्वारा हाजीपुर जंक्शन भेज दिया गया है। विभिन्न स्टेशनों पर उन यात्रियों के पैसे रिफंड करने की सुविधा है जो आगे की यात्रा नहीं करना चाहते हैं।

रेलवे ने मरने वाले लोगों के परिवार को 5 लाख रुपये जबकि गंभीर रूप से घायलों को एक लाख रुपये और घायलों को 50,000 रुपये देगा। सभी चिकित्सा व्यय भी रेलवे द्वारा वहन किया जाएगा।रेलवे के बाद बिहार सरकार ने भी मृतकों और घायलों के लिए मुआवजे का ऐलान किया है। सरकार मृतकों के परिजनों को 4 लाख रुपये जबकि घायलों को 50,000 रुपये देगी।

ये भी पढ़ें...गोरखपुर में बेपटरी हुई 13020 बाघ एक्सप्रेस, बड़ा रेल हादसा टला

सूचना पर सोनपुर से राहत व बचाव दल घटनास्थल पर पहुंच गया है। राहत बचाव कार्य जारी है। हादसे की गंभीरता को देखते हुए लगता है कि मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है। बता दें कि भारतीय रेलवे की तरफ से हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है जिस पर यात्रियों के बारे में जानकारी ली जा सकती है।

एडिशनल डायरेक्टर जनरल स्मिता वत्स शर्मा ने बताया कि अभी हमारा ध्यान राहत और बचाव कार्य पर है। डॉक्टरों की टीम के साथ रेलवे एक्सीडेंट मीडियल वैन मौके पर है। एनडीआरएफ की दो टीमें भी मौके पर पहुंच चुकी हैं।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सीमांचल एक्सप्रेस के पटरी से उतरने की घटना पर दुख व्यक्त किया है। उन्होंने प्रशासन को आदेश दिए हैं कि वह लोगों को हर तरह की सहायता मुहैया करवाए।

ये भी पढ़ें...अमृतसर रेल हादसा: मनोज सिन्हा देर रात घटनास्थल पर पहुंचे, पीयूष गोयल भी भारत के लिए रवाना

आज सुबह बिहार के सहदोई बुजुर्ग में हुए रेल हादसे की वजह से सभी यात्री ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश से छपरा आने वाली ट्रेनों को मुजफ्फरपुर की तरफ डायवर्ट कर दिया गया है।

इस मामले की जांच पूर्वी सर्कल लतीफ खान द्वारा की जाएगी। भारतीय रेलवे ने पटना में हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं- 06122202290, 06122202291, 06122202292, 06122213234

रेल हादसे पर पीयूष गोयल के दफ्तर ने कहा, 'सीमांचल एक्सप्रेस हादसे को लेकर रेलमंत्री रेलवे बोर्ड के सदस्यों और पूर्व मध्य रेलवे के जीएम के संपर्क में हैं। उन्होंने इस दर्दनाक हादसे में हुई निर्दोष लोगों की मौत को लेकर गहरा शोक व्यक्त किया है और घायलों के जल्द ठीक होने की कामना की है।'

हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 'सीमांचल एक्सप्रेस के डिब्बों के पटरी से उतरने के कारण लोगों की जान जाने से बहुत दुखी हूं। शोक संतप्त परिवार के सा़थ मेरी संवेदनाएं हैं। आशा है कि घायल जल्द ठीक हो जाएंगे। दुर्घटना के मद्देनजर रेलवे, एनडीआरएफ और स्थानीय अधिकारी हर संभव सहायता प्रदान कर रहे हैं।'

ये भी पढ़ें...उन्नाव में बड़ा रेल हादसा टला, टूटी पटरी पर दौड़ी ट्रेन

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story