Top

शाबाश! पुलिस हो तो ऐसी, नेताजी के शोहदे साले को जेल भेजकर लिया दम

By

Published on 29 Aug 2016 9:49 PM GMT

शाबाश! पुलिस हो तो ऐसी, नेताजी के शोहदे साले को जेल भेजकर लिया दम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुजफ्फरनगरः यहां समाजवादी पार्टी के महानगर अध्यक्ष राशिद सिद्दीकी का साला और उसका एक साथी स्कूली बच्चियों से छेड़छाड़ के आरोप में गिरफ्तार हुए। साले को थाने ले जाने की जानकारी मिलते ही राशिद सिद्दीकी वहां पहुंच गए और सत्ता की हनक में पैरवी करने लगे। उनकी ये पैरवी हालांकि काम नहीं आई और पुलिस ने नेताजी के साले और उसके साथी को जेल भेज दिया। पुलिस की इस कार्रवाई की हर तरफ तारीफ हो रही है। लोग कह रहे हैं कि शाबाश! पुलिस हो तो ऐसी।

क्या है मामला?

सपा के नेता राशिद सिद्दीकी का साला अदनान और उसका साथी स्कूल से निकल रही छात्राओं से छेड़छाड़ कर रहे थे। दोनों को पुलिस ने पकड़ा और कोतवाली ले गई। इसकी जानकारी राशिद सिद्दीकी तक पहुंची तो वह साले को छुड़ाने के लिए कोतवाली पहुंच गए। उधर, लड़कियों के दूसरे समुदाय का होने की वजह से हिंदू संगठनों के लोग भी वहां इकट्ठा हो गए और कार्रवाई की मांग करने लगे। काफी देर तक सपा के नेताजी ने साले और उसके साथी के पक्ष में पैरवी की। वहीं, मीडिया के लोग भी पहुंच गए। जिसके बाद राशिद ने आरोपियों को गुनहगार मान लिया और पुलिस से कार्रवाई करने की बात कहते हुए कोतवाली से चले गए।

क्या कहती है पुलिस?

सीओ सिटी तेजवीर सिंह ने बताया कि सोमवार को दोनों आरोपियों ने नॉवेल्टी चौक के पास दो स्कूली छात्राओं से छेड़छाड़ की। बच्चियों ने कोतवाली में तहरीर दी और उसके बाद आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। सीओ के मुताबिक सभी थानों के चीता मोबाइल पर चलने वाले पुलिसकर्मी अलर्ट किए गए हैं। साथ ही महिला थाने के मोबाइल को भी अलर्ट किया गया है। इस तरह की घटनाएं हर हाल में रोकने की कोशिश की जा रही है।

Next Story