Top

स्पेशल बच्चों की बेहतरीन राखियां, बनाएगी आपके रक्षा बंधन को खास

जब पहली बार उससे रूबरू हुए तो पता नही था की हमारा नाता क्या है पर जैसे जैसे बड़े हुए और वक़्त गुज़रा उसकी हर चीज़ अपनी सी लगती गई। कभी उसकी चीजों पर हक जमाना तो उसकी एक मुस्कान के लिये सारी दुनिया से लड़ जाना। कुछ ऐसा ही रिश्ता होता है एक भाई और बहन का। उस खूबसूरत रिश्ते को अपने प्यार और दुलार के जरिए रक्षाबंधन में और मजबूत किया जाता है। लेकिन अगर इस खूबसूरत रिश्ते की नींव यानी राखी को खास बच्चे अपने हाथो से बनाए तो त्यौहार में और भी अपनापन लगने लगता है। राखी और कार्ड बनाने में मशगूल इन बच्चों को भले ही दुनिया की रीत ना पता हो, लेकिन इनके दिलेों में अपनों के लिये जज्बा सिर्फ मोहब्बत और प्यार का है।

priyankajoshi

priyankajoshiBy priyankajoshi

Published on 17 Aug 2016 2:21 PM GMT

स्पेशल बच्चों की बेहतरीन राखियां, बनाएगी आपके रक्षा बंधन को खास
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : रक्षा बंधन की आमद पर बाजार में भाई-बहन के प्यार को और मजबूत करने के लिए हर तरह की राखियां मौजूद थी। प्यार और तहजीब के शहर लखनऊ में कुछ खास बच्चों ने इस राखी के त्यौहार को और खास बनाने के लिए पूरी शिद्दत और मेहनत के साथ राखी बनाई।

इन बच्चो को भाई बहन के रिश्ते की अहमियत समझाने के लिए स्पेशल टच स्कूल ने न सिर्फ राखी बनाना बल्कि इन राखियों को बेचना भी सिखाया। जिससे इन बच्चो में अपने हुनर के लिए आत्मविश्वास पैदा हो। यह भी आम बच्चो की तरह ही अपनी मेहनत पर नाज कर सकें।

special-touch-kids

अपने हाथो से बनाते है राखी

जब पहली बार उससे रूबरू हुए तो पता नही था की हमारा नाता क्या है पर जैसे जैसे बड़े हुए और वक्त गुजरा उसकी हर चीज अपनी सी लगती गई। कभी उसकी चीजों पर हक जमाना तो उसकी एक मुस्कान के लिए सारी दुनिया से लड़ जाना। कुछ ऐसा ही रिश्ता होता है एक भाई और बहन का। उस खूबसूरत रिश्ते को अपने प्यार और दुलार के जरिए रक्षाबंधन में और मजबूत किया जाता है। लेकिन अगर इस खूबसूरत रिश्ते की नींव यानी राखी को खास बच्चे अपने हाथो से बनाए तो त्यौहार में और भी अपनापन लगने लगता है। राखी और कार्ड बनाने में मशगूल इन बच्चों को भले ही दुनिया की रीत ना पता हो, लेकिन इनके दिलों में अपनों के लिए जज्बा सिर्फ मोहब्बत और प्यार का है।

हंसते-खेलते सीखा दी रिश्तो की अहमियत

इन नन्ही कलियों को शायद ही रक्षा बंधन की अहमियत का पता हो लेकिन अपनी मासूमियत और नेक दिल से यह खास बच्चे रक्षा के सूत्र को पूरी शिद्दत के साथ तैयार करते हैI इसी सोच के साथ की हमारे इस प्यार से किसी के चेहरे पर मुस्कान आ जाएगी। रिश्तो और त्योहारों के मायने जितना मां बाप सिखाते है उससे कहीं ज्यादा इन बच्चो को रिश्तो के मायने समझने में इनके टीचर्स इनकी मदद करते है। अपने धैर्य के साथ स्पेशल टच स्कूल की कावेरी बैनर्जी ने औरो से जुदा बच्चो को ना सिर्फ इस रक्षा बंधन के अवसर पर राखी और कार्ड बनाना सिखाया बल्कि भाई बहन के रिश्ते की अहमियत भी हंसते-खेलते सिखा दी।

असली मायने में रक्षाबंधन को बनाते है खास

यह राखियां भले ही बाजार की चमकती महंगी डिजायनर राखियों के सामने कुछ भी ना हो, लेकिन किसी भी त्यौहार या रिश्ते की एहमियत तो नेक दिल की कोशिश से होती है। इस रक्षाबंधन इन खास बच्चो की रखियों ने चाहे बाजार की चमचमाती राखियो को मात ना दी हो लेकिन इन खास बच्चो की प्रतिभा ने वाकई में इस अनूठे त्यौहार को असली मायनो में खास बना दिया है।

priyankajoshi

priyankajoshi

इन्होंने पत्रकारीय जीवन की शुरुआत नई दिल्ली में एनडीटीवी से की। इसके अलावा हिंदुस्तान लखनऊ में भी इटर्नशिप किया। वर्तमान में वेब पोर्टल न्यूज़ ट्रैक में दो साल से उप संपादक के पद पर कार्यरत है।

Next Story