Top

मानो या न मानो: शहरों व गलियों में घूमने वाले आवारा कुत्ते करेंगेे अब चौकीदारी

By

Published on 15 Sep 2017 10:15 AM GMT

मानो या न मानो: शहरों व गलियों में घूमने वाले आवारा कुत्ते करेंगेे अब चौकीदारी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बैंकाक: आवारा कुत्ते हर देश में समस्या बने हुए हैं। भारत में तो आवारा कुत्तों की समस्या कुछ ज्यादा ही है। यहां सड़कों व गलियों में आवारा कुत्तों की भरमार है और कई बार इनके कारण रात में निकलना भी मुश्किल हो जाता है। कई बार ये कुत्ते लोगों को दौड़ा लेते हैं। वैसे यह समस्या दुनिया के अन्य देशों में भी है।

थाईलैंड के लोग भी कई साल से इस समस्या को झेल रहे हैं। लेकिन अब उन्होंने इससे बचने का नया तरीका खोज निकाला है यानी इन आवारा कुत्तों को बिना ट्रेनिंग दिए गली या मोहल्ले का चौकीदार बनाया जा सकता है। दरअसल थाईलैंड की एक विज्ञापन कंपनी ने कुत्तों को पहनाने वाली एक जैकेट का अविष्कार किया है। इस जैकेट को पहनाने के बाद आवारा कुत्तों से पहरेदारी करवाई जा सकती है।

ये भी पढ़ें …नहीं बाज आ रहा उ. कोरिया, जापान के ऊपर से फिर दागी बैलिस्टिक मिसाइल

इस जैकेट की विशेषता यह है कि इसमें आगे की तरफ एक वीडियो कैमरा लगा है। कुत्ते के भौंकना शुरू करते ही कैमरा ऑन हो जाएगा। इसके बाद कुत्ता जहां भी जाएगा उसके गले में लटका कैमरा वीडियो रिकॉर्ड करता जाएगा। इस वीडियो को आप अपने मोबाइल या कंप्यूटर पर भी देख सकते हैं।

इस तकनीक से सबसे ज्यादा फायदा उन इलाकों में होगा, जहां चोरी की घटनाएं ज्यादा होती हैं। कुछ भी संदिग्ध होता देख गली में घूम रहा कुत्ता भौंकना शुरू कर देगा और उसका कैमरा ऑन हो जाएगा। इसके बाद आप घर बैठे अपने फोन में देख सकते हैं कि कुत्ता जिस पर भौंक रहा वो कोई अजनबी या चोर तो नहीं।

Next Story