Top

भारतवासियों को सफाई संदेश देने आए 20 देशों से विदेशी, उठाया जलेबी का लुत्‍फ

By

Published on 11 Aug 2016 7:12 AM GMT

भारतवासियों को सफाई संदेश देने आए 20 देशों से विदेशी, उठाया जलेबी का लुत्‍फ
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आगरा: यमुना की हालत सुधारने के लिए 1 अप्रैल 2015 से चल रहे रिवर कनेक्ट अभियान को गुरूवार को 20 देशों का समर्थन मिला। सऊदी अरब, आस्ट्रिया, रूस, चीन, ईराक, दुबई, काबुल जैसे देशों के लोग एतमाउददौला व्यू पाइंट पर आए और लोगों को शहर साफ़ रखने का संदेश भी दिया। इस दौरान विदेशी पर्यटक पहले तो काम में लगे रहे, पर जैसे ही भारत की राष्ट्रीय मिठाई जलेबी की खुशबू मिली, ये सब भूल कर जलेबी पर टूट पड़े।

yamuna safai

रिवर कनेक्ट अभियान के तहत यमुना में रोज होती है आरती

यमुना किनारा पर एतमाउददौला स्मारक के व्यू पॉइंट पर रिवर कनेक्ट अभियान के तहत 1 अप्रैल 2015 से रोज यमुना प्रेमियों का जमावड़ा लगता है और नियम से यमुना की आरती होती है। बारिश में एतमाउददौला व्यू पॉइंट टूट गया था और अधिकारियों से कहने के बाद भी कोई फायदा न हुआ, तो इंडिया राइजिंग की टीम और यमुना भक्तों ने यहां श्रमदान किया।

yamuna safai

आगरा में सफाई का बीड़ा उठाए इंडिया राइजिंग ग्रुप किसी के लिए नया नहीं है। यह दल अपने साथियों के साथ सप्ताह में कम से कम दो बार कहीं न कहीं जाकर उस स्थान की सफाई करता है और वहां पर पेंटिंग कर के उस जगह को खूबसूरत बना देता है।

yamuna safai

सोशल मीडिया के जरिए किया आमंत्रित

इस अवसर पर इंडिया राइजिंग के डॉ आनन्द राय की कोशिश से फेसबुक और ट्विटर के जरिए जुड़े करीब बीस देशों के लोग आए और अभियान में साथ दिया। यह लोग भारत घूमने आए थे और यमुना की सेवा करने को इच्छुक थे।

yamuna safai

अपनी भाषा में लिखा विदेशियों ने यमुना बचाओ का सन्देश

सभी देशों के पर्यटकों ने अपनी अपनी भाषा में यमुना बचाने और सफाई रखने के सन्देश पेंटिंग के साथ लिखे। काबुल की एलिना ने डू योर सिटी क्लीन,सऊदी की सजाला ने यूटर्न पॉल्युशन और सेव यमुना का सन्देश लिखा।

yamuna safai

जलेबी के हुए दीवाने

इस सफाई और पेंटिंग के कार्य के बाद जब आगरा की प्रसिद्द जलेबियां आई, तो पर्यटक अपने आप को रोक नही सके और जलेबियों पर टूट पड़े। जब उन्हें यह पता चला की जलेबी मिठाई है तो सबने जलेबी की खूब तारीफ़ की और सभी ने दोबारा आने का वादा भी किया है।

yamuna safai

जानिए कौन-कौन रहे मौजूद

इस दौरान रिवर कनेक्ट अभियान के मुख्य आयोजक जुगल श्रोत्रिया, इंडिया राइजिंग के आनन्द राय, सुषमा माथुर, साक्षी अग्रवाल, सुहानी अग्रवाल, आशीष जैन, नितिन जौहरी आदि मौजूद थे।

Next Story