Top

नमो टीवी विवाद पर टाटा स्काई की सफाई, कहा- चैनल हटाने का विकल्प हमारे पास नहीं

टाटा स्काई ने साफ कर दिया है कि नमो टीवी एक हिंदी समाचार सेवा नहीं है। यह इंटरनेट के माध्यम से मिलने वाली विशेष सेवा है जिसे सरकारी लाइसेंस की जरूरत नहीं है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 5 April 2019 4:45 AM GMT

नमो टीवी विवाद पर टाटा स्काई की सफाई, कहा- चैनल हटाने का विकल्प हमारे पास नहीं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 के मतदान से पहले नमो चैनल विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। गुरुवार को टाटा स्काई ने नमो चैनल को लेकर चुनाव आयोग के सामने सफाई पेश की। कंपनी ने कहा कि यह चैनल सभी उपभोक्ताओं के लिए एक लॉन्च ऑफर के तौर पर जोड़ा गया है और व्यक्तिगत चैनल को हटाने का कोई विकल्प उनके पास नहीं है।

टाटा स्काई ने साफ कर दिया है कि नमो टीवी एक हिंदी समाचार सेवा नहीं है। यह इंटरनेट के माध्यम से मिलने वाली विशेष सेवा है जिसे सरकारी लाइसेंस की जरूरत नहीं है।

बताते चले कि चुनाव आयोग ने सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से नमो टीवी को लेकर आई शिकायत पर रिपोर्ट मांगी थी। इसमें प्रसारण प्राधिकरण ने कहा था कि उसे समाचार चैनल के लिए लाइसेंस नहीं दिया गया था। ये तो विज्ञापन प्लेटफॉर्म है।

नमो टीवी के खिलाफ अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी ने चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई थी। यह चैनल पिछले हफ्ते लॉन्च किया गया था और इसमें पीएम मोदी की रैलियां और भाषण दिखाए जाते हैं। पीएम मोदी और बीजेपी ने नमो टीवी को सोशल मीडिया पर प्रमोट किया है।

ये भी पढ़ें...नमो टीवी मामले में आयोग ने केन्द्र सरकार से मांगी जानकारी

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story