यहां नहीं होता कोई बूढ़ा, परंपरा के नाम पर बुजुर्गों की चढ़ा देते हैं बलि

Published by Newstrack Published: July 1, 2016 | 2:38 pm
Modified: July 1, 2016 | 2:59 pm

तमिलनाडू: देश में कल्चर और परंपराओं की कमी नहीं है। इसके नाम पर लोग कुछ करने को तैयार रहते है, लेकिन यहां कुछ परंपराएं ऐसी भी है जो आपको हैरान कर देगी। ऐसा नहीं है कि सिर्फ देश बल्कि विदेशों में भी  आश्चर्य जनक परंपराएं देखने को मिल  जाती है।

old-ages.jpg2

आज हम एक ऐसी ही दिल दहलादेने वाली परंपरा के बारे में बात करेंगे जिसे पढकर आप सोने पर मजबूर हो जाएंगे की ऐसा भी हो सकता है। तमिलनाडु की परंपरा ठलाईकूठल है,  इस परंपरा के तहत घर के ही लोग बुज़ुर्गों को मार डालते हैं और तो और इस दौरान गांव के अन्य लोग भी मौजूद रहते हैं, इसे वो लोग उत्सव की तरह मनाते हैं। हैरानी की बात ये है कि पांबदी के बावजूद तमिलनाडु में ये परंपरा निभाई जाती है।

old-age2

इतना ही नहीं बुज़ुर्गों की हत्या कर देने वाली इस परंपरा को समाज की नजर में विदाई देने का एक सम्मानजनक तरीका माना जाता है। इसके तहत जो परिवार बुज़ुर्गों की सेवा नहीं कर पाता वो इस परंपरा के नाम पर उनकी हत्या कर देता है।

अब इसे परंपरा कहेंगे या कुछ और? कभी-कभी तो बुज़ुर्ग खुद ऐसा करने को कहते हैं। हालांकि ये परंपरा ये कानूनन अपराध है।
old-ages

कब निभाई जाती है ये परंपरा

जब बुज़ुर्ग किसी काम के नहीं रहते, घर वालों को लगे कि अब ये सिर्फ़ हम पर बोझ बनकर रह गए हैं। या फिर जब किसी बुज़ुर्ग को कोई लाइलाज बीमारी हो जाए तो परंपरा के नाम पर इनकी हत्या कर दी जाती है।

इन बुजुर्गों को मारने के तरीके भी बहुत खतरनाक हैं।
*बुज़ुर्ग को मिट्टी मिला पानी पिलाया जाता है, जिससे पेट खराब हो जाता है और उसकी मौत हो जाती है। इसे सबसे दर्दनाक तरीका माना गया है।

old-age1

*सुबह-सुबह इनको तेल से नहलाने के बाद पूरे दिन कई ग्लास नारियल पानी पिलाया जाता है, जिससे गुर्दे ख़राब हो जाते हैं। ऐसे में बुज़ुर्ग की दो दिन के अंदर ही मौत हो जाती है।

*दूसरे तरीके में बुज़ुर्ग को ठंडे पानी से नहलाया जाता है ताकि उन्हें हार्ट अटैक आ जाए।

* कभी-कभी तो नाक बंद करके दूध पिलाया जाता है, जिससे तुरंत सांस रुक जाती है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App