जानिए TECHNOLOGY में किस नंबर पर है INDIA और कौन से देश हैं टॉप पर

नई दिल्ली: हर साल नेशनल टेक्नालॉजी डे 11 मई को मनाया जाता है। भारत ने साइंस और टेक्नालॉजी के फील्ड में तरक्की कर खुद को साबित भी किया है। इसमें यहां की टेक्नालॉजी की भी अहम भूमिका है। ये दिवस वैज्ञानिक और औद्योगिक संस्थाओं के लिए खास महत्व रखता है। इस दिन भारत ने पोखरण में सफलतापूर्वक परमाणु परीक्षण कर एक बड़ी तकनीकी उपलब्धि हासिल की थी। इसलिए इस दिन को नेशनल टेक्नालॉजी डे के रुप में मनाते है।
भारत
टेक्नालॉजी की बात हो और इंडिया का जिक्र ना हो कैसे संभव है। विश्व को ज्ञान का पाठ पढ़ाने वाला ये देश भले ही इन देशों से पीछे हो, लेकिन धीरे-धीरे ही खुद की बेहतरीन टेक्नालॉजी से वर्ल्ड के देशों को मात दे रहा है। यहां का जीपीएस सिस्टम, परमाणू पंडुब्बी और सबसे सस्ती कार नैनो बनाकर वर्ल्ड टेक्नालॉजी में अपनी धाक जमाई ।

vddg
दुनिया का हर देश किसी न किसी क्षेत्र में अव्‍वल है, जब टेक्नालॉजी की बात करें तो जहन में चाइना, जापान, साउथ कोरिया देश आ जाते है।  मगर इनके अलावा भी कई ऐसे दूसरे देश हैं जो टेक्‍नालॉजी की दुनिया में अपनी धाक जमाएं हुए हैं। नेशनल टेक्नालॉजी दिवस पर कुछ  ऐसे ही देशों के बारे में बताएंगे, जिन्‍होंने टेक्‍नालॉजी की दुनिया में अपना अहम योगदान दिया है।

gbजापान
टेक्नालॉजी क्षेत्र में जापान  सबसे उन्‍नत देश है जिसने साइंटिस्‍ट रिसर्च से लेकर ऑटोमोबाइल, इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स, मशीनरी, रोबोटिक्‍स के क्षेत्र में काफी योगदान दिया है। यहां 34 प्रतिशत बिजली न्‍यूक्‍लियर पॉवर से जनरेट की जाती है। इसके अलावा जापानी रिर्सचरों ने कई नोबेल पुरस्‍कार भी जीते हैं।

---------चीन
कहा जाता है कि अगर चाइना इसी  तरह टेक्नालॉजी पर काम करता रहा तो अगली महाशक्‍ति बन सकता है, इसका सबसे बड़ा कारण है टेक्नालॉजी में नंबर वन होना, पूरे विश्‍व में चाइना अपनी नवीनतम टेक्नालॉजी के लिए जाना जाता है, आज अगर हम रोबोटिक्‍स की बात करें, या फिर हाईस्‍पीड ट्रैन की चाइना में आपको सभी चीजें मिलेंगी। दिन पर दिन चाइना टेक्नालॉजी के क्षेत्र में नए आयाम छू रहा है।

6jku6kyji
यूनाइटेड स्‍टेट
स्‍पेस टेक्‍नालॉजी में एडवांस होने के साथ यूएस को दुनिया की महाशक्‍ति भी कहा जाता है, दुनिया की सबसे हाइटेक मिलिट्री भी यहीं है।

nederland
नीदरलैंड

नीदरलैंड टेलीकॉम क्षेत्र में सबसे आगे है, यहां कंप्‍यूटर, इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स से जुड़े कई उद्योग मिल जाएंगे। इसके अलावा डिस्‍क, आर्टीफीर्शियल किडनी बनाने के लिए भी नीदरलैंड जाना जाता है।

singapur

सिंगापुर
 टेक्नालॉजी के क्षेत्र में अगर बिजनेस करना हैं तो सिंगापुर सबसे बेस्‍ट है यहां पर दुनिया का सबसे फास्‍ट इंटरनेट मिलेगा। यहां घर में इंटरनेट की 1 गीगाबाइट पर सेकेंड की स्‍पीड मिलेगी। सिंगापुर में हर एक व्‍यक्ति के पास अपना स्‍मार्टफोन है।fef

यूनाइटेड किंगडम
यूनाइटेड किंगडम दुनिया में पहला ऐसा देश है जहां पर इंडस्‍ट्रलाइजेशन शुरू हुआ था।  इसके अलावा जेट इंजन, लोकोमोटिव इंजन, वर्ल्‍ड वाइड वेब, इलेक्‍ट्रिक मोटर का अविष्‍कार भी यहीं हुआ था।

ffgdgफिनलैंड
फिनलैंड अपने हाईटेक प्रोडेक्‍ट्स और हेल्‍थकेयर के लिए जाना जाता है, इसके अलावा नोकिया का जन्‍म भी यहीं हुआ था जो एक समय में मोबाइल की दुनिया में नंबर वन कंपनी थी।

frr

रूस
रूस ने ही सबसे पहले अंतरिक्ष में मानव को भेजा था, इसके अलावा रूस  हैवी मशीनरी और डिफेंस सिस्‍टम के लिए भी जाना जाता है। धरती से हवा में मार करने वाली मिसाइलें भी सबसे पहले रूस में ही बनाई गईं थीं।

जर्मनी
जर्मनी कई दशकों तक हाइटेक देशों में गिना जाता रहा है, खास कर इंजीनियरिंग के क्षेत्र में जर्मनी का बहुत नाम है। मर्सिडीज बेंज, बीएमडब्‍लू, पोर्श और फॉक्सवैगन जैसी नामचीन कार कंपनियां जर्मनी में ही  हैं।
gffff

इजरायल
इजरायल का 35 प्रतिशत एक्‍सपोर्ट तकनीक से जुड़ा होता है, स्‍पेस साइंस के क्षेत्र में आने वाले टॉप 5 देशों में से इजरायल भी शामिल है। इजरायल को डिफेंस प्रोडक्ट्स के लिए भी जाना जाता है। यहां पर सबसे पहला यूएवी यानी अनमैन्ड एरियल विहेकिल सिस्‍टम बनाया गया था। इसके अलावा इजरायल इलेक्‍ट्रिक कार भी बनाता है।