Top

12 साल की उम्र में ग्रेजुएट हो गया ये INDIAN, 18 में बन जाएगा डॉक्टर

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 23 May 2016 9:57 PM GMT

12 साल की उम्र में ग्रेजुएट हो गया ये INDIAN, 18 में बन जाएगा डॉक्टर
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लॉस एंजेलेसः 12 साल के भारतवंशी तनिष्क अब्राहम की उपलब्धि से अमेरिका समेत पूरी दुनिया में लोगों की आंखें फट गई हैं। वह 12 साल की उम्र में ग्रेजुएट हो गया है। खास बात ये भी है कि अमेरिका में इस उपलब्धि को तनिष्क ने पहली बार हासिल किया है। यहां तक कि अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा तक उसको बधाई दे चुके हैं। अब तनिष्क अपनी अगली उपलब्धि महज 18 साल की उम्र में हासिल करने जा रहा है।

क्या होगी तनिष्क की नई उपलब्धि?

-तनिष्क अब मेडिसिन में एमडी करने की तैयारी कर रहा है।

-उसे इस कोर्स के लिए यूनिवर्सिटी ऑफ कैलीफोर्निया और यूसी सांता क्रूज ने ऑफर दिया है।

-यूसी सांता क्रूज में पढ़ने पर उसे रीजेंट्स स्कॉलरशिप भी मिलेगी।

-अभी तनिष्क ने तय नहीं किया है कि वह किस यूनिवर्सिटी से कोर्स करेगा।

अभी क्या हासिल किया?

-तनिष्क ने तीन एसोसिएट डिग्री हासिल की है।

-उसे ये तीनों डिग्री गणित, साइंस और फॉरेन लैंगवेज में मिली हैं।

-अब्राहम आगे चलकर अमेरिका का राष्ट्रपति बनना चाहता है।

-साल 2014 में एक्जाम देकर हाईस्कूल में दाखिला लिया था।

क्या करते हैं तनिष्क के पैरेंट्स?

-तनिष्क के पिता बीजू अब्राहम सॉफ्टवेयर इंजीनियर हैं।

-उसकी मां ताजी वेटेनरी यानी जानवरों की डॉक्टर हैं।

-उसके माता-पिता केरल से अमेरिका गए थे।

-तनिष्क ने छह साल की उम्र में दोनों से कॉलेज जाने की बात कही थी।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story