Top

बच्चों की जिद पर गुड्डे-गुड़िया की शादी, बैंड-बाजा-बारात पर लाखों खर्च

Admin

AdminBy Admin

Published on 26 Feb 2016 6:21 AM GMT

बच्चों की जिद पर गुड्डे-गुड़िया की शादी, बैंड-बाजा-बारात पर लाखों खर्च
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बागपत: बचपन में अक्सर बच्चे खेल-खेल में गुड्डे-गुड़ियों की शादी करते हैं, लेकिन बागपत में ये शादी बिल्कुल असली शादियों की तरह हुई। इसमें लाखों रुपए खर्च किए गए। गुड्डे को दूल्हे और गुड़िया को दुल्हन की तरह सजाया गया। रियल शादी की तरह इसमें सारी रस्में निभाई गईं। इसके बाद दावत भी हुई। इस अनोखी शादी शामिल होने वालों के लिए भी ये एक यादगार शादी बन गई।

शादी के लिए तैयार नहीं था परिवार

-ठाकुर द्वारा मोहल्ले के निवासी अनीश कुरैशी ने बताया कि करीब 3 महीने पहले ही उसकी बेटी मुस्कान ने बाजार से प्लास्टिक की गुड़िया खरीदी थी।

-एक महीने पहले ही बेटी ने गुड़िया की शादी पड़ोसी सत्तार की बेटी शीबा के गुड्डे से तय कर दी।

-दोनों परिवार को जब पता चला तो उन्होंने शादी कराने से साफ इंकार कर दिया, लेकिन बाद में वो इस शादी के लिए तैयार हो गए।

पूरा गांव बना बराती

-दोनों परिवारों ने इस शादी को असली शादी की तरह करने का मन बनाया।

-शादी वाले दिन बैंड-बाजा बुलाया गया। दूल्हे और दुल्हन के लिए स्टेज सजाया गया।

-लाल जोड़े में दुल्हन की तरह शर्माती हुई गुड़िया जब स्टेज तक पहुंची तो उसकी एक झलक पाने के लिए लोग उतावले हो उठे।

-वहीं, गुड्डा दूल्हे के लिबास में सिर पर सेहरा बांधे हुआ था। इस अनोखी शादी में पूरा गांव बराती बना।

दान-दहेज भी मिला

-सत्तार के घर से राजा नाम के गुड्डे की बारात अनीश के घर रानी नाम की गुड़िया के लिए पहुंची।

-दुल्हन पक्ष ने लगभग 50 बारातियों का जोरदार स्वागत किया।

-दहेज में दूल्हे राजा को सोने चांदी के जेवरात, कपड़े और फर्नीचर भी मिला।

-डोली में ही दुल्हन रानी को विदा किया गया। दुल्हन की विदाई के साथ ही सबकी आंखे भी नम हो गईं।

-दोनों परिवारों ने बच्चों की खुशी के लिए लाखों रुपए खर्च किए।

Admin

Admin

Next Story