Top

अब शादी के लिए ढाई लाख रुपए निकालने हैं तो देनी होगी आत्मदाह की धमकी ?

विधवा ओमवती इस बात से परेशान थी कि उसकी बिटिया की 1 दिसम्बर को बारात आनी है और घर में एक पैसा भी नहीं है| आखिर वो करे भी तो क्या शिकोहाबाद की आवास विकास कॉलोनी में रहने वाली विधवा ओमवती ने बेटी की शादी के लिए अपना प्लाट बेचा था और पैसा 8 नवम्बर से पहले ही सेंट्रल बैंक में जमा भी कर दिया था|

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 28 Nov 2016 7:34 PM GMT

अब शादी के लिए ढाई लाख रुपए निकालने हैं तो देनी होगी आत्मदाह की धमकी ?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

फिरोजाबाद : अब शादी के लिए ढाई लाख रुपये निकालने हैं तो देनी होगी आत्मदाह की धमकी....जी हाँ! सही पढ़ा आपने, ऐसा हम नहीं वो परेशान विधवा कह रही है, जिसने नोटबंदी से तंग आकर आज आत्मदाह करने की ठान ली थी क्योंकि 1 दिसम्बर को उसकी बेटी की शादी है और बैंक वाले रुपये नही दे रहे थे। इसके बाद हरकत में आये स्थानीय प्रशासन ने बैंककर्मियों से बात कर बेटी की शादी के लिए महिला को 2 लाख रूपये दिलवाए।

विधवा ओमवती इस बात से परेशान थी कि उसकी बिटिया की 1 दिसंबर को बारात आनी है और घर में एक पैसा भी नहीं है। आखिर वो करे भी तो क्या शिकोहाबाद की आवास विकास कालोनी में रहने वाली विधवा ओमवती ने बेटी की शादी के लिए अपना प्लाट बेचा था और पैसा 8 नवंबर से पहले ही सेंट्रल बैंक में जमा भी कर दिया था।

1 तारीख को उसकी बेटी की शादी है और अभी तक उसके हाथ में एक रूपया भी नहीं था। उसे समझ में नहीं आ रहा था कि वो क्या करे। नोटबंदी के बाद खाते से पैसा निकालना बहुत मुश्किल हो गया था। ओमवती ने बैंक मैनेजर से लेकर डीएम के सामने अपना दुखड़ा रोया, लेकिन किसी का दिल नहीं पसीजा तो ओमवती ने धमकी दी की यदि उसे बैंक से रुपये नही मिले तो वो आत्महत्या कर लेगी, फिर क्या था हड़कंप मच गया और जिला प्रशासन की पहल पर उसे बैंक से 2 लाख रुपये मिल गए अब ओमवती और उसकी लड़की खुश है।

क्या कहना है ओमवती का :

ओमवती ने कहा कि हम डीएम साहब के पास गये और उनसे कहा कि अगर अबकी बार पइसा नहीं मिले तो हम अपनी बेटी सहित आत्महत्या कर लेंगे। अपना पिलोट (जमीन) बेच कर पैसे बैंक में डाले अब वो भी नहीं निकल रहे। पहली तारीख की शादी है तब 2 लाख रुपया दिलवाये है।

आरती जिसकी शादी है, ने बताया कि हमारे पापा नहीं है हमारी मम्मी ने जमींन बेच कर जो रूपये बैंक में जमा किया था वो निकल नहीं रहे है। 500 और 1000 हजार का नोट बंद हो गया है अब बैंक वालो ने सुनी है तब हमें रूपये मिले है।

क्या कहा बैंक मैनेजर ने :

रमाकांत शर्मा सेन्ट्रल बैंक मैनेजर कहते है कि दो तीन दिन से ये महिला आ रही थी। उससे हमने कहा की और लोगो को भी रूपये देने है। आप 24 हजार निकाल लीजिये, जोकि उन्होंने निकाले भी फिर इन्होने डीएम से कहा मै आत्महत्या कर लूंगी इसके बाद एसडीएम का फोन आया तब मैंने इंतजाम करके इन्हें 2 लाख रूपये दिए।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story