Top

गोरखपुर में जलाया गया दुनिया का सबसे बड़ा 'दीया', दी शहीदों को श्रद्धांजलि

By

Published on 1 Nov 2016 9:24 AM GMT

गोरखपुर में जलाया गया दुनिया का सबसे बड़ा दीया, दी शहीदों को श्रद्धांजलि
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

gorakhpur

गोरखपुर: दुनिया का सबसे लंबा रेलवे प्लेटफार्म होने का गौरव पहले ही हासिल कर चुके गोरखपुर शहर के नाम एक और कीर्तिमान जुड़ गया है। शहर के मोहनलालपुर में 150 किलो का मिट्टी का 'दीया' 101 लीटर तेल से जलाया गया। दावा किया जा रहा है कि यह दुनिया का सबसे बड़ा 'दीया' है।

आगे की स्लाइड में जानिए किसने बनवाया यह 'दीया'

gorakhpur

श्रीश्री लक्ष्‍मी पूजा नवयुवक समिति और सूर्यकुंडधाम जीर्णोद्धार समिति ने इसे तैयार कराया हैै। आयोजक मंडल के पदाधिकारी विशाल गुप्‍ता ने बताया कि समित‍ि द्वारा पिछले कई सालों से मां लक्ष्‍मी की प्रतिमा स्‍थापित की जा रही है। ऐसे में आयोजक मंडल ने इस वर्ष देश के लिए अपनेे प्राणों की आहुति देने वाले शहीद जवानोंं के लिए कुछ अलग करने का निर्णय लिया और इस साल 150 कुंतल का मिट्टी का 'दीया' बनवाने का निर्णय लिया गया। समिति ने इस बार जो लक्ष्‍मी प्रतिमा स्‍थापित की है, वह भी भारत माता की तरह चार सिंह पर सवार हैं और उसके आगे शहीद जवानों की फोटो लगाई गई है।

आगे की स्लाइड में जानिए क्या है समिति वालों का कहना

gorakhpur

समितियों का मानना है कि यह "दीया" विश्व में सबसे बड़ा होगा। समिति ने विश्व रिकार्ड दर्ज कराने के लिए लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड से भी संपर्क साधा है। हालांकि, अभी समिति को कोई जवाब नहीं मिला है। समिति के सदस्यों को विश्वास है कि लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में गोरखपुर का यह दीया अपना स्थान बना सकता है। स‍मिति के विशाल गुप्‍ता ने बताया कि उन्‍होंने लिम्‍का बुक आफ रिकॉर्ड के आयोजकाें से संपर्क करने का प्रयास किया है। लेकिन अभी संपर्क नहीं हो पाया है।

आगे की स्लाइड में जानिए किसने किया इसे प्रज्‍ज्‍वलित

gorakhpur

दीप प्रज्‍ज्‍वलन केे अवसर पर प्रख्‍यात भजन गायन नंदू मिश्रा ने कहा कि दुनिया का सबसे बड़ा दीप जलाकर इन नवयुवकों ने शहीदों को अनोखे तरह से श्रद्धांजलि अर्पित कर सराहनीय कार्य किया है। इसकी जितनी भी प्रशंसा की जाय वह कम है। उन्‍होंने कहा कि शहीदों को इस प्रकार से श्रद्धांजलि देना गौरव का विषय है। श्रीश्री लक्ष्‍मी पूजा नवयुवक समिति ने दुनिया का सबसे बड़ा दीया जलाकर शहीदों को श्रद्धांजलि दी है और इसके साथ ही अनोखा कीर्तिमान भी अपने नाम कर लिया हैै।

आगे की स्लाइड में देखिए इस अनोखे दीप प्रज्‍ज्‍वलन का वीडियो

Next Story