×

YES बैंक: डूब गया परिवहन निगम का 38 करोड़, इस वजह से हुआ नुकसान

यस बैंक में लोगों करोड़ों रुपया फंसा हुआ है। आम हो या खास यस बैंक की वर्तमान स्थिति से सब परेशान है। इधर यूपी राज्य सड़क परिवहन निगम के भी 38 करोड़ रुपए यस बैंक में फंस गए हैं। परिवहन निगम को यह खामियाजा सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक बैंकिंग की

suman

sumanBy suman

Published on 8 March 2020 5:54 AM GMT

YES बैंक: डूब गया परिवहन निगम का 38 करोड़, इस वजह से हुआ नुकसान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: यस बैंक में लोगों करोड़ों रुपया फंसा हुआ है। आम हो या खास यस बैंक की वर्तमान स्थिति से सब परेशान है। इधर यूपी राज्य सड़क परिवहन निगम के भी 38 करोड़ रुपए यस बैंक में फंस गए हैं। परिवहन निगम को यह खामियाजा सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक बैंकिंग की लापरवाही से भुगतना पड़ा है। यह रकम नई बस खरीदने के राशि की है। हालांकि कुछ अफसरों की यस बैंक के गिरते शेयर पर पैनी निगाह थी जिससे 385 करोड़ रुपये फंसने से बच गए, नहीं तो कुल 423 करोड़ रुपये फंसते।

यह पढ़ें...कोरोना वायरस APP: लॉन्च किया गया ‘CORONA 100m’, ऐसे करता है काम

निगम के चालकों व परिचालकों ने साल 2018 से 2019 तक खूब कमाई की, जिससे 423 करोड़ रुपये का चार चरणों में यस बैंक में फिक्स डिपॉजिट किया गया। लखनऊ परिक्षेत्र के एक बड़े अफसर ने बताया कि यस बैंक में एफडी कराने वाले बिचौलिए की टीम ने अधिक ब्याज एवं खुद के फायदे के लिए यह निवेश कराया था।

लेकिन डॉ. राजशेखर ने जुलाई 2019 में प्रबंध निदेशक की कमान संभाली तो बिचौलियों की करतूत का पता चला। इसके बाद यस बैंक से फिक्स डिपॉजिट के 385 करोड़ रुपये निकालकर राष्ट्रीयकृत बैंक में जमा कराया गया। यस बैंक से फिक्स डिपॉजिट की यह रकम परिवहन निगम ने तीन माह पहले ही वापस ली थी।

यह पढ़ें... महिला दिवस 2020: भारत की ये दमदार महिलाएं, जिनके कदमों में पूरी दुनिया

यस बैंक में सबसे अंत में 38 करोड़ रुपये फिक्स डिपॉजिट किए गए। इस रकम की एफडी के दौरान उस शर्त को दर किनार कर दिया जो 385 करोड़ रुपये के निवेश में लागू थी। इसमें यह शर्त थी कि फिक्स डिपॉजिट की रकम को किसी भी वक्त तोड़ करके निकाला जा सकता है। लेकिन इस शर्त को 38 करोड़ की एफडी पर लागू नहीं किया। अब सवाल उठ रहा है कि यह खेल किसके इशारे पर हुआ।

सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक बैंकिंग की लापरवाही से यस बैंक में एफडी के 423 करोड़ में से 38 करोड़ रुपये फंस गए हैं। इस सिलसिले में यस बैंक के प्रबंधक को पत्र लिखा गया है।

suman

suman

Next Story