बंद मकान में लाशों के ढेर: पूरे परिवार की मौत, यूपी में मचा हड़कंप

उत्तर प्रदेश में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां एटा जिले के थाना कोतवाली नगर क्षेत्र में एक साथ पांच लोगों की मौत होने की जानकारी मिलने से हड़कंप मच गया।

dead-bodies, sudan

एटा: उत्तर प्रदेश के एटा जिले से दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक ही परिवार के पांच लोगों का शव शनिवार की सुबह मिला। जिसके बाद क्षेत्र में हड़कंप मच गया। मरने वालों में दो महिलाओं समेत दो बच्चे भी शामिल हैं। वहीं एक पुरुष का शव भी बंद मकान में मिला। पुलिस को जानकारी मिली तो तत्काल मौके पर पहुंच गयी। मकान के गेट को तोड़ कर शवों को बाहर निकाला गया। अभी मौत का कारण पता नहीं चल सका है, हालाँकि पुलिस जांच में जुटी हुई है।  हालांकि हत्या की आशंका जता रही है।

एटा में एक ही परिवार के पांच लोगों के शव

एटा जिले के थाना कोतवाली नगर क्षेत्र में एक साथ पांच लोगों की मौत होने की जानकारी मिलने से हड़कंप मच गया। मकान में रह रहे पूर्व स्वास्थ्य अधिकारी और उनके परिवार की मौत की जानकारी जैसे ही आसपास के लोगों को हुई, उन्होंने तत्काल स्थानीय पुलिस को सूचना दी।

बंद मकान से पुलिस ने बरामद की 5 लाशें

मौके पर पहुंची पुलिस ने बताया कि एक महिला का शव घर के मुख्य दरवाजे के पास, दो बच्चों व उनकी मौसी का शव कमरे के अन्दर तथा राजेश्वर पचौरी का शव दूसरी मंजिल पर पड़ा मिला। पुलिस को एक महिला के गले पर निशान पाये जाने से मामला कुछ संदिग्ध प्रतीत होता है। तो वहीं शवों के पास से सल्फास की गोलियां व हार्पिक की बोतल भी प्राप्त हुई है। अब पुलिस हत्या और आत्महत्या के बीच उलझ गई है।

मृतक के भाई पूर्व कलेक्ट्रेट वार के अध्यक्ष रामेश्वर पचौरी ने अपने भाई समेत परिजनों की हत्या की आशंका जताई है। उन्होंने कहा कि बीती शाम मेरी अपने भाई से मुलाकात हुई थी तथा मैं उनके पास बैठा भी था। उनकी किसी से भी कोई दुश्मनी नहीं थी।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार सिंह ने बताया की प्रातः 7:बजे पुलिस को सूचना मिली की राजेश्वर पचौरी के मकान में एक महिला चारपाई पर मृत हालत में पड़ी है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मृतक के घर का दरवाजा गैस से कटवा कर घर में अंदर जाकर देखा तो महिला के मुंह से झाग निकल रहा था। जांच करने पर पूरे मकान में कोई भी सामान अस्त-व्यस्त नहीं था तथा जिससे लूटपाट की कोई संभावना नहीं लगती है। मृतक का पुत्र दिवाकर रुड़की में नौकरी करते हैं। जिन्हें बुलाने के लिए सूचना दे दी गई है। घटनास्थल पर रसोई में रखे दूध को भी जांच के लिए भेजा गया है उसमें तो कोई विषाक्त पदार्थ नहीं है। मौके पर डॉग स्क्वायड सहित पुलिस टीमें लगाकर जांच कराई जा रही है। सभी मृतकों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

ये भी पढ़ेंः अस्पताल में हाहाकार, 11 डॉक्टरों समेत 31 कर्मी कोरोना पॉजिटिव

जांच में जुटी पुलिस

वहीं मौके पर फोरेंसिक और डॉग स्क्वायड टीम भी पहुँच कर जांच में जुट गयी। मौत कैसे हुई और किस कारण हुई इसका तो पता अभी नहीं चल सका है, हालंकि पुलिस जांच में जुट गयी है। पुलिस इस बात का पता लगा रही है कि परिवार ने आत्महत्या की या उनकी हत्या की गयी है। वहीं उनकी मौत किस तरीके से हुई है।

रिपोर्ट: सुनील मिश्रा 

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।