69,000 शिक्षक भर्ती: अधिक अंक पाने वालों पर नजर, STF ने जुटाना शुरू किया ब्योरा

पूरे मामले की जड़ तक पहुंचने के लिए एसटीएफ ने प्रयागराज पुलिस द्वारा अब तक जुटाए गए तथ्यों का अध्ययन शुरू कर दिया है। और मामले की जाँच शुर कर दी है

लखनऊ:  उत्तर प्रदेश के परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में 69 हजार शिक्षकों की भर्ती में अनियमितता के मामले में अब अधिक नंबर पाने वाले अभ्यर्थी एसटीएफ के रडार पर होंगे। प्रयागराज में डा. केएल पटेल समेत अन्य आरोपितों के विरुद्ध दर्ज मुकदमे की जांच को लेकर एसटीएफ मुख्यालय में मंथन शुरू हो चुका है। प्रयागराज यूनिट के अधिकारियों को जांच को लेकर कई अहम निर्देश भी दिए गए हैं। एसटीएफ ने अब तक हुई जांच से जुड़े दस्तावेज व आरोपितों का ब्योरा जुटाना शुरू कर दिया है।

एसटीएफ कर रही है जांच

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने प्रयागराज में पकड़ी गई गड़बड़ी की जांच एसटीएफ को सौंपी है। पूरे मामले की जड़ तक पहुंचने के लिए एसटीएफ ने प्रयागराज पुलिस द्वारा अब तक जुटाए गए तथ्यों का अध्ययन शुरू कर दिया है। खासकर उन अभ्यर्थियों की जानकारी जुटाई जा रही है, जिनके नंबर अधिक थे। एसटीएफ की कुछ अन्य टीमें भी तैयार की जा रही हैं, जो दूसरे जिलों में जाकर छानबीन करेंगी। बहुचर्चित व्यवसायिक परीक्षा मंडल (व्यापम) घोटाले से भी जुड़े रहे मुख्य आरोपित डा. केएल पटेल के बारे में भी और जानकारी जुटाई जा रही है।

ये भी पढ़ें-    टिड्डियों का हमला: सर पर आसमानी आफत, लोगो में दहशत

एसटीएफ परीक्षाओं में धांधली कराने वाले इस गिरोह के सदस्यों को पहले भी दो बार पकड़ चुकी है। शिक्षक भर्ती परीक्षा के दौरान एसटीएफ ने लखनऊ व प्रयागराज समेत अन्य जिलों में सॉल्वर गिरोह के करीब 27 सदस्यों को पकड़ा था। तब एक सिपाही व स्कूल प्रबंधक भी पकड़े गए थे। आशंका है कि लखनऊ में पकड़े गए आरोपितों के तार भी डॉ.केएल पटेल से जुड़े थे। शुरुआती छानबीन के बाद एसटीएफ जल्द आरोपितों को पुलिस कस्टडी रिमांड पर लेकर उनसे सीधे पूछताछ करेगी।

मामले में पुलिस कई लोग को कर चुकी गिरफ्तार

बता दें कि एक युवक की शिकायत पर पुलिस ने मामले की जांच शुरू की थी और डा. केएल पटेल समेत 11 आरोपितों को गिरफ्तार किया था। शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा छह जनवरी 2019 को हुई थी। बता दें कि परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में 69000 शिक्षकों की भर्ती में प्रयागराज के एक परीक्षा केंद्र में गड़बड़ी का मामला सामने आने पर अनियमितताओं के आरोपों से घिरी सरकार ने जांच एसटीएफ को सौंप दी है।

ये भी पढ़ें-    चीन का खतरनाक प्लान: पीछे हटने पर बताई ये वजह, हरकतों का नहीं दिया जवाब

इस मामले में पुलिस ने कई लोगों को गिरफ्तार किया है। बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार डा. सतीश चंद्र द्विवेदी ने बीते मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस कर कहा था कि शिक्षकों की भर्ती के लिए प्रयागराज में परीक्षा केंद्र बनाए गए एक विद्यालय के प्रबंधक और उनसे जुड़े गिरोह का मामला सामने आया है।