दो बाईक की टक्कर के बाद ग्रामिणों ने बाईक सवार को पीटकर मार डाला

थाना मदनापुर क्षेत्र के कुनिया जमालपुर निवासी महेश अपनी पत्नी सतरूपा के साथ कहीं जा रहा था। वह बाईक से थाना निगोही के गडा गांव के पास से गुजर रहा था। तभी सामने से अचानक बाईक आ गई। दोनों बाईक सवारों की टक्कर हो गई।

Published by SK Gautam Published: May 16, 2019 | 4:41 pm
Modified: May 16, 2019 | 4:42 pm

शाहजहांपुर: यूपी के शाहजहांपुर में दो बाईक की आमने सामने की टक्कर के बाद हादसे ने बङा रूप ले लिया। एक्सीडेंट के बाद युवक ने गांव वालों की मदद से दूसरे बाईक सवार युवक की बेरहमी से पीट पीटकर हत्या कर दी। इतना ही नही उसकी पत्नी को भी जमकर पीटा। पत्नी को जिला अस्पताल मे भर्ती करा दिया गया। गांव वालों ने युवक को पीटने के बाद उसके शव को कमरे मे बंद कर दिया।  डायल 100 पुलिस सूचना के बाद मौके पर पहुची और युवक के शव को अपने कब्जे में लेकर अस्पताल भेजा। जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। फिलहाल पुलिस ने घटना की जांच शुरू कर दी है।

थाना मदनापुर क्षेत्र के कुनिया जमालपुर निवासी महेश अपनी पत्नी सतरूपा के साथ कहीं जा रहा था। वह बाईक से थाना निगोही के गडा गांव के पास से गुजर रहा था। तभी सामने से अचानक बाईक आ गई। दोनों बाईक सवारों की टक्कर हो गई। दूसरा युवक कपिल यादव उसी गांव का रहने वाला था। टक्कर के बाद मौके पर भारी तादाद में लोग इकट्ठा हो गए। भीड़ ने बाईक सवार महेश को उसकी ही पत्नी के सामने पीटना शुरू कर दिया और उसकी बेरहमी से पीट पीटकर हत्या कर दी गई।

ये भी देखें: जानिए क्यों, बहुरिया ऐश्वर्या राय ससुर अमिताभ बच्चन से बहुते नाराज है

महेश के शव को भीड़ ने गांव के एक कमरे मे बंद कर दिया। उसके बाद भीड़ ने महेश की पत्नी को भी पीटना शुरू कर दिया। जिससे वह बेहोश हो गई। इस दौरान किसी ने डायल 100 पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुची पुलिस ने कड़ी  मशक्कत के बाद शव को कब्जे में लेकर अस्पताल भेजा जहां डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। वहीं उसकी पत्नी को भी अस्पताल में भर्ती करा दिया है।

मृतक के भाई रामेश्वर के मुताबिक मेरे भाई की पीट पीटकर हत्या की गई है। और पुलिस मेरी कोई सुनवाई नही कर रही है। भाई का कहना है कि इतनी बड़ी बात नही थी कि मेरे भाई को पीट पीटकर मौत के घाट उतार दिया गया। अब हमें  न्याय चाहिए है। आरोपियों पर कड़ी कार्यवाई की जाए।

बताया जा रहा है कि आरोपियों को बचाने के लिए थाने मे सत्ता पक्ष नेताओं के फोन पहुच रहे हैं। नेताओं के दबाव में  आकर ही पुलिस कार्यवाही से बच रही है।

ये भी देखें : चुनाव आयोग अपनी स्वतंत्रता खो चुका है, नियुक्ति प्रक्रिया की समीक्षा हो: कांग्रेस

डाक्टर नितिन तिवारी का कहना है कि मृत हालत में महेश नाम के युवक को अस्पताल में लाया गया है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। उसकी पत्नी को भी घायल अवस्था में लाया गया है। उसका इलाज किया जा रहा है। युवक की मौत कैसे हुइ है ये पोस्टमार्टम के बाद ही साफ हो पाएगा।

घटना के बाद पुलिस कुछ भी बोलने को तैयार नही है।