Top

मिशन शक्ति फेल, ऐसी पुलिस कैसे दिलाएगी इंसाफ: अजय कुमार लल्लू

बस्ती में पुलिस प्राथमिकी दर्ज करने के लिए रिश्वत मांगे जाने की घटना पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि बस्ती से लेकर प्रदेश के सभी जिलों में महिलाओं व बच्चियों के साथ अत्याचार हो रहा है लेकिन सरकार कागजों में मिशन शक्ति चला रही है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 16 Nov 2020 2:41 PM GMT

मिशन शक्ति फेल, ऐसी पुलिस कैसे दिलाएगी इंसाफ: अजय कुमार लल्लू
X
बस्ती में पुलिस प्राथमिकी दर्ज करने के लिए रिश्वत मांगे जाने की घटना पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने तीखी प्रतिक्रिया दी है।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: बस्ती में पुलिस प्राथमिकी दर्ज करने के लिए रिश्वत मांगे जाने की घटना पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि बस्ती से लेकर प्रदेश के सभी जिलों में महिलाओं व बच्चियों के साथ अत्याचार हो रहा है लेकिन सरकार कागजों में मिशन शक्ति चला रही है। ऐसी सरकार और ऐसी पुलिस से इंसाफ की उम्मीद करना बेकार है।

ये भी पढ़ें: कौन हैं रेणु देवी: जिन्होंने बिहार में रचा इतिहास, बनी बिहार की पहली डिप्टी सीएम

सर्वाधिक अत्याचार महिलाओं और बेटियों पर हुए

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार अब तक बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान चलाती रही है लेकिन पिछले चार साल के दौरान सर्वाधिक अत्याचार महिलाओं और बेटियों पर ही हुए हैं। अब मिशन शक्ति अभियान चला रही है। यह अभियान भी कागजों पर ही चलाया जा रहा है। इसका सुबूत सबके सामने है। अपराध बढऩे के साथ ही पुलिस व सरकार की असंवेदनशीलता भी सामने आ रही है। उत्तर प्रदेश में जंगल राज है। बेटियां सुरक्षित नहीं हैं।



पिछले समय में हाथरस , हमीरपुर,बाराबंकी , चित्रकूट आदि की ऐसी घटनाएं सामने आई हैं जहां बेटियों के साथ अत्याचार करने वालों के साथ ही सरकार और उसका पूरा अमला खड़ा दिखाई दिया है। अब बस्ती का मामला सामने आया है। जहां पीडि़त परिवार से पुलिस प्राथमिकी दर्ज करने के लिए पांच हजार रुपये की रिश्वत थाना पुलिस की ओर से की जा रही है।

ये भी पढ़ें: कर्मचारियों पर अच्छी खबर: सरकार ने जारी किया नया नियम, होगा बंपर फायदा

पीडि़त परिवार को इंसाफ दिलाने की जिम्मेदारी जिस पुलिस व प्रशासन पर है वह जब पैसे का सौदा कर रहा है तो समझ सकते हैं कि इंसाफ किसे मिलेगा। उन्होंने कहा कि योगी सरकार ने महिला सुरक्षा के आदर्श व सिद्धांतों को ताक पर रख दिया है। महिला सुरक्षा के नाम पर केवल नारा देने वाली यह सरकार है। कानून व्यवस्था व बेटियों की रक्षा करने में सरकार पूरी तरह फेल है। यह सरकार अब अपराधियों की संरक्षक बन गई है और उन्हीं के साथ खड़ी दिखाई दे रही है।

अखिलेश तिवारी

Newstrack

Newstrack

Next Story